ODF का लक्ष्य पूरा करने के लिए चाहिए कुशल मिस्त्री, जानिए क्यों

23 0

चेन्नई। 2014 के बाद से स्वच्छ भारत मिशन के तहत खुले में शौच बंद करने का अभियान सरकार चला रही है, लेकिन इसकी राह में बड़ी बाधा बन रही है कुशल मिस्त्रियों की कमी।

सर्वे से सामने आया है कि ज्यादातर मिस्त्रियों को टॉयलेट या सोकपिट ठीक से बनाने के बारे में पता नहीं है। उन्हें इसे बनाने की कोई ट्रेनिंग नहीं मिलती। ऐसे में जो सोकपिट या टॉयलेट बनते हैं या बन रहे हैं, वे जल्दी खराब हो जाते हैं। उनमें लीकेज आ जाती है और भूजल का कचरा भी इकट्ठा हो जाता है। खराब तरीके से बने टॉयलेट और सोकपिट से गंदा पानी जाकर पेयजल में मिलता है और स्वास्थ्य को खराब कर देता है।

स्वच्छता के लिए टॉयलेट, उस तक लोगों की पहुंच, मल के निष्कासन का तरीका, गंदे पानी को बाहर न निकलने देने वाला सोकपिट बनाना जरूरी होता है। ये सबकुछ शहरी इलाकों में बनने वाले सीवर सिस्टम से बिल्कुल अलग होता है। भारत के शहरों में भी अभी 50 फीसदी से ज्यादा घरों में सरकारी सीवेज सिस्टम नहीं है। ऐसे में स्वच्छता के लिए ताबड़तोड़ टॉयलेट और सोकपिट बन रहे हैं और अकुशल मिस्त्रियों की वजह से ये पर्यावरण के लिए खतरा बन रहे हैं।

मिस्त्री का काम आमतौर पर एक बेटा अपने पिता से सीखता है। जब पिता ही टॉयलेट और सोकपिट बनाने में कुशल न हो, तो भला बेटे को ये हुनर कैसे मिल सकता है। साथ ही मिस्त्रियों को सोकपिट बनाने की ट्रेनिंग देने वाला कोई संस्थान भी नहीं है। सिर्फ 3 फीसदी मिस्त्री ही जानते हैं कि सोकपिट कैसा बनना चाहिए। साथ ही मानकों के तहत इसे बनाने की जानकारी भी नहीं होती है।

जो कुशल मिस्त्री हैं, उनका कहना है कि हम तो सुझाव ही दे सकते हैं। उसे मानना या न मानना मकान मालिक की मर्जी पर निर्भर करता है। बता दें कि सोकपिट बनाने का मानक ब्यूरो ऑफ इंडियन स्टैंडर्ड ने तय कर रखा है। ये मानक मकान के साइज और उसमें रहने वालों की संख्या पर निर्भर करता है, लेकिन आम तौर पर मकान मालिक बड़ा सोकपिट बनवाते हैं। ताकि उसकी सफाई बार-बार न करानी पड़े। देखा ये गया है कि पांच लोगों के परिवार के लिए मिस्त्री 80 फीसदी बार ऐसा सोकपिट बनाते हैं, जो 5 फुट गुणा ढाई फुट गुणा 3 फुट के मानक से साफी बड़ा होता है। सिर्फ 20 फीसदी मिस्त्रियों को पता होता है कि कितने बड़े परिवार के लिए कितना बड़ा सोकपिट बनाने की जरूरत है।

Related Post

OMG: कियारा और स्वरा के हस्तमैथुन सीन्स को देख ये सब खरीद रहीं महिलाएं !

Posted by - July 13, 2018 0
नई दिल्ली। फिल्म ‘वीरे दी वेडिंग’ में स्वरा भास्कर और वेब सीरीज ‘लस्ट स्टोरीज’ में कियारा आडवाणी के हस्तमैथुन के सीन्स ने तहलका मचा…

आजकल युवा भी हो रहे आर्थराइटिस के शिकार, समय रहते बचाव जरूरी

Posted by - October 22, 2018 0
नई दिल्‍ली। आंकड़े बताते हैं कि पिछले कुछ सालों में ऑस्टियो आर्थराइटिस की जगह मांसपेशियों के आर्थराइटिस के मामले ज्यादा…

गैंगवार में रणवीर सेना के पूर्व कमांडर धनजी सिंह समेत 3 की मौत

Posted by - October 11, 2017 0
गोलियों की तड़तड़ाहट से थर्राया सासाराम का दुर्गापुर गांव, अन्‍य दो मृतकों की शिनाख्‍त नहीं सासाराम : मुफस्सिल थाने के दुर्गापुर गांव …

शैवाल की ऐसी प्रजातियां मिलीं, जो जलवायु परिवर्तन की निगरानी में मददगार

Posted by - September 11, 2018 0
लखनऊ। अरुणाचल प्रदेश के तवांग जिले में ऐसी शैवाल प्रजातियां मिली हैं, जिनका उपयोग जलवायु परिवर्तन की निगरानी के लिए…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *