रेप सिर्फ शरीर पर जख्म के निशान नहीं छोड़ता, मानसिक रूप से कर देता है बीमार

77 0

वॉशिंगटन। एक नई रिसर्च से पता चला है कि रेप सिर्फ पीड़ित के शरीर पर ही जख्म के निशान नहीं छोड़ता। इसकी पीड़ित महिला मानसिक तौर पर गंभीर रूप से बीमार हो जाती है।

जर्नल ऑफ अमेरिकन मेडिकल एसोसिएशन में छपी रिसर्च में बताया गया है कि हर तीन में से एक महिला पर यौन हमला किया जाता है। पांच में से एक महिला से रेप होता है और कामकाजी महिलाओं में से 75 फीसदी को यौन उत्पीड़न सहना होता है।

पिट स्कूल ऑफ मेडिसिन ने 300 ऐसी महिलाओं से बात की, जिनपर यौन हमला हुआ था। रिसर्च से पता चला कि इनमें से ज्यादातर को नींद न आने की बीमारी, तनाव और गहरा डिप्रेशन हो गया। यौन हमलों या यौन अपराधों की बात करें, तो रिसर्च के मताबिक इसका शारीरिक के साथ मानसिक तौर पर भी पीड़ित पर असर पड़ता है। मानसिक रोग विशेषज्ञ डॉ. रेबेका थर्सटन कहती हैं कि इस मसले को तुरंत हल करने की जरूरत है।

स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी में मनोरोग विशेषज्ञ डॉ. फोर्ड का कहना है कि रेप या यौन हमले की पीड़ित के दिमाग में कई ऐसे रसायन निकलते हैं। जिनकी वजह से वो जिंदगी भर खुद पर हुए हमले को भुला नहीं पाती है। इसका उसके जीवन पर गहरा असर पड़ता है।

स्टडी में हिस्सा लेने वाली महिलाओं में से 19 फीसदी ने बताया कि कार्यस्थल पर उन्हें यौन उत्पीड़न का सामना करना पड़ा। 22 फीसदी ने कहा कि उन पर यौन हमला हुआ और 10 फीसदी के मुताबिक उनके साथ यौन उत्पीड़न और यौन हमला दोनों हुआ। खास बात ये है कि इनमें से ज्यादातर पीड़ित महिलाएं उच्च शिक्षा हासिल कर चुकी थीं।

Related Post

केंद्रीय मंत्री के बिगड़े बोल, कहा – रेप की एक-दो घटनाओं पर बात का बतंगड़ न बनाएं

Posted by - April 22, 2018 0
संतोष गंगवार बोले – ऐसी घटनाएं दुर्भाग्यपूर्ण, मगर इतने बड़े देश में कभी-कभी उन्‍हें रोका नहीं जा सकता बरेली। कठुआ…

श्रीनगर में ‘राइजिंग कश्मीर’ के संपादक शुजात बुखारी की गोली मारकर हत्या

Posted by - June 14, 2018 0
हमले में उनका पीएसओ भी मारा गया, दफ्तर से बाहर निकलते समय अज्ञात हमलावरों ने बनाया निशाना श्रीनगर। जम्मू कश्मीर की…

अमेरिका सबूत दे तो हक्कानी नेटवर्क के खात्‍मे के लिए हम तैयार : पाक

Posted by - October 10, 2017 0
आतंकवाद पर पाक के बदले सुर, विदेश मंत्री ने कहा – संयुक्त सैन्य अभियान के लिए तैयार इस्लामाबाद। पाकिस्तान के विदेश…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *