महिलाओं को 40 साल से पहले हुआ मेनोपॉज, तो हो सकता है टाइप-2 डायबिटीज

26 0

एथेंस (ग्रीस)। जिन महिलाओं का पीरियड्स 40 साल की उम्र से पहले बंद हो जाता है, उन्हें टाइप 2 डायबिटीज होने का खतरा 50 प्रतिशत बढ़ जाता है। जानकर हैरान रह गए ना…लेकिन ये सच है। ये बात एक स्टडी में सामने आई है।

स्टडीज का किया गया विश्लेषण

एथेंस ग्रीस के थेस्सलोनिकी यूनिवर्सिटी के रिसर्चर्स ने 13 स्टडीज का विश्लेषण किया। इन स्टडीज में 1 लाख 91 हजार 700 महिलाएं शामिल थीं जिनका पीरियड्स आना बंद (मेनोपॉज) हो चुका था। इनमें से 21 हजार 600 महिलाएं टाइप 2 डायबिटीज से पीड़ित थीं।

क्या कहना है रिसर्चर्स का

रिसर्चर्स ने बताया कि ब्रिटेन और अमेरिका में ज्यादातर महिलाओं को 51 की उम्र में मेनोपॉज शुरू हो जाता है, लेकिन हजारों महिलाएं ऐसी भी होती हैं जिनका मेनोपॉज 40 की उम्र में भी शुरू हो जाता है। रिसर्चर्स का मानना है कि मेनोपॉज के दौरान इंसुलिन का प्रोडक्शन कम हो जाता है, क्योंकि एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन हार्मोन घट जाते हैं। जब शरीर में इंसुलिन बनना बंद हो जाता है तब टाइप 2 डायबिटीज होने का खतरा बढ़ जाता है। रिसर्चर्स ने बताया कि मेनोपॉज और टाइप-2 डायबिटीज का क्या कनेक्शन है, यह अभी तक स्पष्ट नहीं हो पाया है।

डॉक्टर ने क्या बताया

डॉक्टर्स का कहना है कि जिन महिलाओं को मेनोपॉज समय से पहले हो जाता है, उन्हें अपने खानपान का खास ख्याल रखना चाहिए। डायबिटीज के रिस्क को कम करने के लिए उन्हें रोजाना एक्सरसाइज भी करनी चाहिए। इस स्टडी को यूरोपीय संघ एसोसिएशन फॉर द स्टडी ऑफ डायबिटीज कॉन्फ्रेंस में बर्लिन में प्रस्तुत किया गया था।

Related Post

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *