पीएनबी घोटाला : ED की बड़ी कार्रवाई, नीरव की 637 करोड़ रुपये की संपत्ति अटैच

39 0

नई दिल्ली। पीएनबी घोटाले में प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने बड़ी कार्रवाई करते हुए नीरव मोदी और उसके परिवार के सदस्यों की 637 करोड़ रुपए की संपत्ति और बैंक खाते अटैच किए हैं। ईडी ने मुंबई में 19.5 करोड़ रुपये मूल्‍य का एक फ्लैट भी अटैच किया है। प्रवर्तन निदेशालय हांगकांग से 22.69 करोड़ रुपये के हीरे के आभूषण भी भारत लाया है। नीरव ने एक प्राइवेट कंपनी के पास यह ज्वेलरी छिपाकर रखी थी।

कहां कितनी जब्‍त हुई संपत्ति ?

प्रवर्तन निदेशालय ने न्यूयॉर्क में 216 करोड़ रुपये मूल्‍य का अपार्टमेंट सीज किया है। यह संपत्ति इचाका ट्रस्ट के नाम पर खरीदी गई। नीरव की पत्‍नी एमी इस ट्रस्ट से जुड़ी है। वहीं लंदन में 57 करोड़ मूल्‍य का अपार्टमेंट ईडी ने कब्जे में लिया। ईडी के मुताबिक, यह अपार्टमेंट नीरव की बहन पूर्वी के नाम पर है, जिसे पीएनबी घोटाले की रकम से वर्ष 2017 में खरीदा गया था। मुंबई में 19.5 करोड़ वैल्यू का फ्लैट अटैच किया गया, पूर्वी के नाम पर ही है। बता दें कि पूर्वी पर मनी लॉन्ड्रिंग के आरोप हैं। उसके खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस पहले ही जारी हो चुका है। इतना ही नहीं, ईडी ने नीरव, पूर्वी और उनकी कंपनियों के पांच बैंक खाते भी अटैच किए हैं। इनमें 278 करोड़ रुपये जमा हैं। ईडी ने पूर्वी के नाम का सिंगापुर के बैंक का एक और खाता भी कब्जे में लिया है। इसमें 44 करोड़ रुपए का बैलेंस है।

नीरव को एक महीने में देना है जवाब

बता दें कि मुंबई की विशेष अदालत ने पंजाब नेशनल बैंक में 13 हजार करोड़ रुपये से अधिक का घोटाला कर विदेश भागे हीरा कारोबारी नीरव मोदी को एक महीने में जवाब दाखिल करने का निर्देश दिया है। कोर्ट ने प्रवर्तन निदेशालय की याचिका पर सुनवाई करते हुए नीरव मोदी को 29 अक्टूबर तक अपना जवाब दाखिल करने के लिए कहा है। ईडी ने कोर्ट से नए कानून के तहत नीरव मोदी को भगोड़ा घोषित करने की मांग की थी।

नीरव लंदन में, चोकसी एंटीगुआ में

नीरव मोदी और उसके रिश्तेदार मेहुल चोकसी पर फर्जी गारंटी पेपर के जरिए पीएनबी से कर्ज लेने का आरोप है। इंटरपोल ने इस साल जुलाई में नीरव मोदी को ढूंढने और गिरफ्तार करने का निर्देश जारी किया था। विदेश मंत्रालय ने अगस्त के पहले सप्ताह में बताया था कि नीरव मोदी लंदन में है और गृह मंत्रालय ने मोदी के प्रत्यर्पण के लिए आवेदन भी भेजा था। बता दें कि विदेश मंत्रालय ने नीरव मोदी का पासपोर्ट इस साल फरवरी में ही रद्द कर दिया था। वहीं मेहुल चोकसी एंटीगुआ में है और वहां की सरकार ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को भरोसा दिलाया है कि चोकसी के प्रत्यर्पण में भारत की पूरी मदद की जाएगी।

Related Post

पॉक्सो एक्ट में बदलाव पर हाईकोर्ट ने उठाए सवाल, केंद्र से पूछा – क्या कोई रिसर्च की?

Posted by - April 23, 2018 0
दिल्‍ली हाईकोर्ट ने पूछा – अध्यादेश लाने से पहले किसी पीड़िता से पूछा गया कि वे क्या चाहती हैं? सरकार…

मंदी में नोटबंदी ने आग में घी डालने का काम किया : यशवंत सिन्‍हा

Posted by - September 27, 2017 0
लगातार गिरती जीडीपी और चरमरा रही अर्थव्यवस्था के कारण मोदी सरकार की मुश्किलें बढ़ रही हैं. बीजेपी के दिग्गज नेता…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *