आप जानते हैं, क्यों बंद नहीं किए जाते हैं ट्रेन के डीजल इंजन ?

122 0

लखनऊ। भारतीय रेल दुनिया के सबसे बड़े नेटवर्क में शुमार है। इस रेल नेटवर्क में रोजाना लाखों यात्री सफर करते हैं। बता दें कि भारतीय रेलवे में आज भी आधे से ज्यादा इंजन डीजल से चलते हैं। आपने देखा होगा कि किसी भी ट्रेन का डीजल इंजन हो, वह हमेशा चालू रहता है, फिर चाहे वह मालगाड़ी हो या पैसेंजर ट्रेन। चाहे ट्रेन को कितनी भी देर खड़ा रखना हो, लोको पायलट डीजल इंजन को बंद नहीं करता है। लेकिन क्‍या आपने कभी यह जानने का प्रयास किया कि ऐसा क्‍यों होता है ?  

आइए हम आज आपको बताते हैं कि आखिर रेल के डीजल इंजन को बंद क्‍यों नहीं किया जाता है –

  • अगर डीजल इंजन को बंद कर दिया जाए तो इसके कंप्रेसर पर गलत असर पड़ता है और इसका ब्रेकिंग सिस्टम भी फेल हो सकता है।
  • हर डीजल इंजन में एक बैटरी लगी होती है। यह बैटरी तभी चार्ज होती है जब इंजन चालू रहता है। अगर बैटरी चार्ज न हो तो ट्रेन का लोको मोटिव सिस्टम फेल हो सकता है।
  • रास्ते में लाल बत्ती आ जाने पर या किसी अन्‍य कारण से ट्रेन के डीजल इंजन को बंद कर दिया जाए तो इंजन को दोबारा चालू करने में करीब 20 मिनट लग जाते हैं।
  • यही नहीं, अगर एक बार डीजल इंजन को बंद कर दिया जाए तो उसे दोबारा चालू करने के लिए काफी ज्यादा डीजल की जरूरत पड़ती है।

2021 तक सभी ट्रेनें बिजली से चलाने का लक्ष्‍य

आपको जानकर अचरज होगा कि आने वाले कुछ सालों में रेल डीजल इंजन सिर्फ रेलवे के म्‍यूजियम में ही नजर आएंगे। रेल मंत्रालय ने पूरे देश में वर्ष 2021 तक डीजल इंजनों की जगह बिजली से चलने वाले इंजन लाने का लक्ष्‍य तय किया है। इसके लिए देश के करीब 20 हजार किमी रेल मार्ग का विद्युतीकरण करना होगा। इस पर करीब 15 हजार करोड़ रुपये खर्च होंगे। वर्तमान में रेलवे लाइनों के विद्युतीकरण का काम तेजी से चल रहा है। रेलवे बोर्ड के सदस्‍य घनश्‍याम सिंह ने बताया कि रोजाना 30 किलोमीटर रेल लाइन का विद्युतीकरण किया जा रहा है। पूरा रेल नेटवर्क विद्युतीकृत हो जाने से रेलवे को करोड़ों की बचत होगी, साथ ही ट्रेनों को अधिक स्‍पीड से चलाया जा सकेगा। इससे रेलवे और पर्यावरण दोनों को फायदा होगा।

Related Post

कावेरी जल विवाद : सुप्रीम कोर्ट ने कहा, नदी पर किसी एक राज्य का अधिकार नहीं

Posted by - February 16, 2018 0
ऐतिहासिक फैसले में सर्वोच्‍च अदालत ने तमिलनाडु के पानी में की कटौती, कर्नाटक को ज्‍यादा पानी नई दिल्ली। कावेरी जल विवाद…

दिल्ली-एनसीआर समेत देश के कई हिस्सों में भूकंप के झटके, तीव्रता 6.2

Posted by - May 9, 2018 0
जम्‍मू-कश्‍मीर, हिमाचल और पंजाब में भी महसूस हुए झटके, लोग घर-दफ्तर से बाहर भागे नई दिल्‍ली। दिल्ली-एनसीआर में बुधवार (9…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *