सावधान ! पोलियो की वैक्सीन में मिला टाइप-2 वायरस, महाराष्ट्र और यूपी में अलर्ट

109 0
  • दवा बनाने वाली गाजियाबाद की कंपनी ‘बायोमेड’ का मैनेजिंग डायरेक्टर गिरफ्तार, पांच अफसरों पर केस

नई दिल्‍ली। भारत सहित पूरी दुनिया से पोलियो का टाइप-2 वायरस खत्‍म हो चुका है, लेकिन अब गाजियाबाद में एक कंपनी द्वारा बनाई गई पोलियो की दवा में यह वायरस मिलने से हड़कंप मच गया है। मामले की जांच के आदेश दिए गए हैं। कंपनी के प्रबंध निदेशक को पुलिस ने शनिवार को गिरफ्तार कर लिया। इस खुलासे के बाद आशंका जताई जा रही है कि पोलियो फिर से दस्‍तक दे सकता है। माना जा रहा है कि यह वैक्सीन महाराष्ट्र और उत्तर प्रदेश में इस्तेमाल की गई है, ऐसे में दोनों राज्यों को अलर्ट कर दिया गया है। 

एमडी समेत पांच अफसरों पर केस

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, गाजियाबाद के कवि नगर में दवा बनाने वाली कंपनी बायोमेड प्राइवेट लिमिटेड के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई गई है। कंपनी के मैनेजिंग डायरेक्टर डॉ. एसपी गर्ग  समेत 5 अधिकारियों के खिलाफ केस दर्ज कर एमडी को गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस ने एमडी को कोर्ट में पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया। आरोप है कि कंपनी द्वारा पिलाई जाने वाली पोलियो की कुछ दवा में वायरस पाया गया है। वैक्सीन बनाने वाली कंपनी के खिलाफ सेंट्रल ड्रग्स स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गनाइजेशन (CDSCO) के एक अधिकारी ने शिकायत दर्ज करवाई है।

कैसे हुआ खुलासा ?

पुलिस के मुताबिक, गाजियाबाद की बायोमेड प्राइवेट लिमिटेड कंपनी वर्ष 1995 से ही केंद्रीय स्वास्थ्य विभाग को पोलियो की वैक्सीन सप्लाई कर रही है। यह वैक्‍सीन यूपी के वाराणसी, मिर्जापुर और गाजीपुर समेत देश के कई जिलों को सप्लाई की जाती है। कंपनी ने पिछली सप्‍लाई मार्च 2018 में की थी। पिछले दिनों यूपी के कुछ जिलों में कुछ बच्‍चों में पोलियो की शिकायत पाई गई थी। इसके बाद केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन ने यूपी और देश के कुछ अन्‍य राज्‍यों से बायोमेड द्वारा सप्लाई वैक्सीन का सैंपल लिया। जांच में एक सैंपल में टाइप-2 एंटीजन की पुष्टि हुई। आरोप है कि  बैच-10 का सैंपल सब स्टैंडर्ड पाया गया।

कंपनी से दवा का उत्‍पादन बंद

ड्रग इंस्पेक्टर जुनाब अली का कहना है कि कंपनी से पोलियो वैक्सीन का उत्पादन तत्काल बंद कर दिया गया है। यही नहीं, कंपनी की तरफ से यूपी, उत्तराखंड व तमिलनाडु को सप्लाई की गई वैक्सीन को वापस मंगाया जा रहा है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, यह कंपनी 9 तरह की वैक्सीन बनाती है। इनमें से अधिकांश की सप्लाई केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय को की जा रही है। साथ ही कुछ राज्य सरकारों को भी वैक्सीन सप्लाई हो रही है। सूत्रों का कहना है कि पोलियो की टाइप-2 वैक्सीन का सैंपल फेल होने के बाद कंपनी द्वारा सप्लाई की जा रही बाकी वैक्सीन की भी जांच कराई जा रही है।

Related Post

पाकिस्तान में इलाज कराने गए अफगान डिप्टी गर्वनर किडनैप

Posted by - October 29, 2017 0
पूर्वी कुनार प्रांत के उप गवर्नर काजी मोहम्मद नबी अहमदी पेशावर के दाबगरी इलाके से हुए अगवा पेशावर। अफगानिस्तान के…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *