विवेक हत्याकांड : आरोपी दोनों पुलिस वाले बर्खास्त, जांच के लिए एसआईटी गठित

65 0

लखनऊ। राजधानी के सबसे पॉश इलाके गोमतीनगर में शुक्रवार (28 सितंबर) की देर रात एप्‍पल के एरिया मैनेजर विवेक तिवारी की गोली मारकर हत्‍या करने के मामले में आरोपी दोनों पुलिसकर्मियों के खिलाफ हत्‍या का मामला दर्ज कर उन्‍हें जेल भेज दिया गया है। एसएसपी कलानिधि नैथानी ने पत्रकारों को बताया कि उन्‍होंने बताया कि डीजीपी ओपी सिंह ने दोनों सिपाहियों प्रशांत और संदीप को बर्खास्त कर दिया है। पूरी घटना की जांच एसआईटी को सौंप दी गई है।

जरूरत पड़ी तो सीबीआई जांच : सीएम योगी

इस मामले को सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने गंभीरता से लिया है। उन्‍होंने कड़ी नाराजगी जताते हुए डीजीपी ओपी सिंह को फटकार लगाई है। मुख्‍यमंत्री ने दोषियों पर कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। सीएम ने यह भी सफाई दी कि यह एनकाउंटर नहीं है। जरूरत पड़ेगी तो मामले की सीबीआई जांच कराएंगे। बता दें कि मृतक की पत्‍नी ने सीएम को पत्र लिखकर मामले की सीबीआई जांच कराने और एक करोड़ रुपये मुआवजा दिए जाने की मांग की है।

पुलिसकर्मियों ने कानून हाथ में लिया : डीजीपी

प्रदेश के पुलिस महानिदेशक (DGP) ओम प्रकाश सिंह ने विवेक हत्याकांड को लेकर स्वीकार किया कि पुलिसकर्मियों ने कानून हाथ में लिया है। उन्होंने कहा, ‘दोनों पुलिसकर्मियों ने गलती की है, इसीलिए उनके खिलाफ धारा 302 के तहत एफआईआर दर्ज कराई गई है। इसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है।’ डीजीपी ने यह भी कहा कि शाम तक दोनों सिपाहियों को बर्खास्त कर दिया जाएगा।

योगी की ट्रिगर हैप्पी पुलिस, कार न रोकने पर एप्पल कंपनी के मैनेजर की कर दी हत्या

आईजी की अध्‍यक्षता में एसआईटी गठित

एडीजी कानून व्यवस्था आनंद कुमार ने बताया कि डीजीपी ने मामले की जांच के लिए आईजी लखनऊ की अध्यक्षता में स्पेशल इन्वेस्टीगेशन टीम (SIT) गठित की है। उनकी टीम में एसपी क्राइम और एसपी ग्रामीण भी होंगे। वे मामले की जांच कर जल्द से जल्द अपनी रिपोर्ट जमा करेंगे। उधर, एसएसपी नैथानी ने भी मुठभेड़ की बात से इनकार किया है। उन्होंने कहा कि सिपाही के मुताबिक, विवेक ने उनकी बाइक पर कार चढ़ाने की कोशिश की थी। विवेक जब गाड़ी बैक करने लगे तो उन्हें लगा कि दोबारा गाड़ी चढ़ाने का प्रयास किया जा रहा है, इसलिए सिपाही ने अपने बचाव में गोली चलाई जो विवेक को लग गई।

पोस्‍टमॉर्टम में गोली से मौत की पुष्टि

एसएसपी कलानिधि नैथानी ने कहा कि विवेक के शव का पोस्टमॉर्टम कराया गया, जिसमें गोली लगने से मौत की पुष्टि हुई है।  पोस्टमॉर्टम में शामिल एक डॉक्टर का कहना है कि बेहद नजदीक से विवेक तिवारी को गोली मारी गई है। वहीं, घटना के करीब आठ घंटे बाद दोनों सिपाहियों प्रशांत और संदीप का लोहिया अस्पताल में मेडिकल परीक्षण कराया गया। एसएसपी ने बताया कि आरोपी पुलिसकर्मियों से पूछताछ की जा रही है।

देखें वीडियो – कार में सवार विवेक की सहकर्मी ने क्‍या कहा

Related Post

उइगुर मुस्लिमों के बाद अब ईसाइयों पर चीन सरकार की नजरें टेढ़ीं, हेनान प्रांत में कार्रवाई

Posted by - September 11, 2018 0
बीजिंग। पाकिस्तान से लगे जिनजियांग प्रांत के उइगुर मुसलमानों पर तमाम प्रतिबंध लगाने के बाद चीन की सरकार की नजर…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *