बच्चों को भी हो सकता है डायबिटीज, इन लक्षणों को भूलकर भी न करें इग्नोर

117 0

नई दिल्ली। डायबिटीज बहुत से लोगों को घेर रही है। अब तो इसकी चपेट में बच्चे भी आ रहे हैं। अगर इस बीमारी के लक्षण समय पर पहचान कर इसका इलाज किया जाए तो बच्चे का बचपन दोबारा हंसी और खेल-कूद वाला हो सकता है। आइए, जानते हैं कि वे लक्षण कौन-कौन से हैं।

बार-बार प्यास लगना – बच्चों में शुगर लेवल की मात्रा बढ़ जाने से उन्हें बहुत ज्यादा प्यास लगती है। इसके अलावा उनको कोल्‍डड्रिंक और जूस जैसी लिक्विड चीजें पीने की भी इच्छा होती है। अगर आपके बच्चे में भी कुछ ऐसे लक्षण दिख रहे हैं तो सतर्क हो जाएं।

बार-बार भूख लगना – डायबिटीज से शरीर में ऊर्जा की कमी हो जाती है। यह बच्चों की भूख को बढ़ा देती है और वो जरूरत से ज्यादा खाना खाने लगते हैं। ज्यादा खाना खाने के बावजूद उनका वजन बढ़ने की बजाय कम होने लगता है।

थकान रहना – डायबिटीज के कारण इन्सुलिन की मात्रा घट जाती है, जिससे बच्चों के शरीर में ऊर्जा की कमी हो जाती है। इससे बच्चे बिना कुछ किए थक जाते हैं। वो सुस्त हो जाते हैं और उनका खेलने का भी मन नहीं करता है।

यीस्‍ट संक्रमण – डायबिटीज की वजह से छोटे बच्‍चों में यीस्‍ट संक्रमण भी हो सकता है। यहां तक कि जो शिशु डायपर पहनते हैं उन्‍हें भी यीस्‍ट की वजह से घाव हो सकते हैं।

मूड में बदलाव – बच्चों और लड़कियों में टाइप 1 डायबिटीज होने की संभावना अधिक होती है। टाइप 1 डायबिटीज मेलिटस से ग्रस्त बच्चों को देखने में तकलीफ होती है। इससे बच्चों को धुंधला दिखाई देता है। टाइप 1 डाइबिटीज मेलिटस से ग्रस्त बच्चों के व्यवहार में अचानक परिवर्तन आ जाता है। वे अचानक चिड़चिड़े, मूडी, क्रेंकी और उदास हो जाते हैं।

Related Post

सिर्फ अपने दिमाग से सोचकर चला सकेंगे टीवी, SAMSUNG लाने जा रहा है तकनीक

Posted by - November 13, 2018 0
लंदन। कोरियाई इलेक्ट्रॉनिक्स जायंट सैमसंग ऐसा टीवी लाने की कोशिश में जुटा है, जिसका कोई रिमोट कंट्रोल नहीं होगा। ये…

अब अमरनाथ और वैष्णो देवी जाने वाले श्रद्धालुओं को देना होगा GST

Posted by - July 23, 2018 0
सरकार ने खारिज की अपील, रजिस्ट्रेशन फीस और पालकी-पोनी सर्विस पर लगेगा 18 फीसदी जीएसटी नई दिल्ली। अमरनाथ और वैष्णो देवी की…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *