हिमाचल में भारी बर्फबारी के बीच ट्रैकिंग पर गए IIT Roorkee के 35 छात्र लापता

96 0

शिमला। हिमाचल प्रदेश में हो रही भारी बारिश और बर्फबारी के बीच के लाहौल स्पीति में 43 लोगों के लापता होने की खबर हैं। इनमें 35 आईआईटी रुड़की के छात्र हैं जो वहां ट्रेकिंग के लिए गए थे। राज्‍य में पिछले दो-तीन दिन से भारी बारिश हो रही है, वहीं ज्‍यादा ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी भी हुई है।

आईआईटी छात्रों से संपर्क नहीं

आईआईटी रुड़की के लापता छात्रों में से एक की पहचान अंकित भाटी के तौर पर हुई है। अंकित के पिता राजीव भाटी ने न्‍यूज एजेंसी से बातचीत में बताया कि सभी छात्र कुल्लू स्थिति हम्‍पटा ट्रेकिंग पास में ट्रेकिंग करने गए थे। राजीव ने समाचार एजेंसी को बताया, ‘मेरा बेटा ग्रुप के सभी छात्रों के साथ ट्रेकिंग से लौटकर मनाली आ रहे था, लेकिन काफी प्रयास के बाद भी उससे संपर्क नहीं हो पा रहा है।’

8 सदस्‍यों की टीम भी लापता

एजेंसी की रिपोर्ट  के मुताबिक, लाहौल-स्पीति घूमने गए 8 लोगों का एक अन्‍य ग्रुप भी लापता हो गया है। इनमें ब्रुनेई की एक महिला संजीदा तुबा, नीदरलैंड के एबी लिम और 6 भारतीय नागरिक शामिल हैं। इस दल में शामिल अन्‍य सदस्‍यों के के नाम प्रियंका वोरा, पायल देसाई, दीपिका, दिव्या अग्रवाल, अभिनव चंदेल और अशोक हैं। हालांकि केलांग के एसडीएम अमर सिंह नेगी का कहना है कि कोकसर कैंप में इन यात्रियों का दल सुरक्षित है। कुल्लू जिले के पर्यटन विकास अधिकारी बीएस नेगी का कहना है कि सभी एडवेंचरस खेल जैसे कि पैराग्लाइडिंग और ट्रेकिंग पर रोक लगा दी गई है।

भारी बारिश से बिगड़े हालात

बता दें कि हिमाचल प्रदेश के कई इलाकों में भारी बारिश और बर्फबारी हुई है। कुल्लू, कांगड़ा और चंबा जिलों में बारिश से जुड़े अलग-अलग हादसों में अबतक 5 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि कई लोग घायल हुए हैं। कुल्लू में एक लड़की समेत 4 लोगों ने जान गंवा दी, जबकि कांगड़ा जिले में एक व्यक्ति की मौत हुई है। सोमवार को राज्य के कई इलाकों में भारी बारिश के बाद बाढ़ जैसे हालात हैं। कुछ जगहों से भूस्खलन की भी सूचना है। एहतियात के तौर पर कांगड़ा, कुल्लू और हमीरपुर जिलों में मंगलवार को स्कूल बंद रखे गए हैं।

Related Post

नया प्यूरीफायर, जो प्रदूषित हवा से 80 फीसदी कम कर देगा PM 2.5 की मात्रा

Posted by - October 2, 2018 0
CSIR के वैज्ञानिकों ने बनाया हवा को साफ करने वाला प्‍यूरीफायर, कहीं भी लगा सकेंगे ज्‍यादा ट्रैफिक वाले क्षेत्रों, चौराहों…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *