आप जानते हैं, इंसान के शरीर में क्‍यों होती है खुजली ?

172 0

नई दिल्‍ली। शरीर में समय-समय पर कई तरह की छोटी-मोटी समस्या होती रहती है, उन्‍हीं में से एक है खुजली। लेकिन क्या आप जानते हैं कि शरीर में खुजली क्यों होती है? मानव शरीर विज्ञान का ये एक ऐसा पहलू है, जिस पर शायद सबसे कम ध्‍यान दिया गया है। आमतौर पर एक शख़्स को दिन भर में 97 बार खुजली होती है। आइए जानते हैं विज्ञान के ऐसे तथ्‍यों के बारे में जिनसे ये समझ पाएंगे कि इंसान को आखिर खुजली क्‍यों होती है –

क्‍या कहा गया है शोध में ?

आमतौर पर खुजली होने की कोई एक ख़ास वजह नहीं होती। त्वचा के रुखेपन या किसी एलर्जी के कारण भी खुजली होती है। अगर खुजली लगातार हो रही है तो इसका संबंध लीवर और किडनी से भी हो सकता है, जो काफी गंभीर समस्या है। वैज्ञानिकों ने एक शोध में बताया है कि शरीर में खुजली नैट्रियूरेटिक पोलिपेपटाइड बी (एनपीपीबी) नामक एक मॉलिक्यूल के कारण होती है, जो स्पाइनल कॉर्ड के एक खास नर्व सेल में जाकर जम जाता है जिससे दिमाग को खुजली होने के संकेत मिलते हैं।

मच्‍छर के काटने से क्‍यों होती है खुजली ?

लिवरपुल यूनिवर्सिटी के प्रोफ़ेसर फ्रांसिस मैक्लोन बताते हैं, ‘मच्छर, कीड़े-मकोड़े और पौधे इंसान की त्वचा पर एक टॉक्सिन छोड़ते हैं। इस टॉक्सिन के जवाब में शरीर के इम्यून सिस्टम से हिस्टैमिन का स्राव होता है। ऐसा होने से तंत्रिका से मतिष्क को खुजली का सिग्नल मिलता है और हम खुजली करने लगते हैं।

 

तंत्रिका और टिशू होते हैं ज़िम्मेदार

1997 में खुजली के इस विज्ञान की दिशा में एक बड़ी खोज हुई। इससे पहले माना जाता था कि चोट लगने पर दर्द और त्वचा पर होने वाली खुजली दोनों एक ही तरह के पैटर्न से होती है, लेकिन 1997 में अध्‍ययन में सामने आया कि खुजली के विज्ञान में अलग तंत्रिका और ऊतक ज़िम्मेदार होते हैं।

खुजली के कुछ सामान्‍य कारण

  • अगर कई दिनों तक स्नान ना करें तो शरीर पर गंदगी जमा हो जाती है जिसके कारण खुजली शुरू हो जाती है।
  • त्वचा के इन्फेक्शन, रूखेपन और रक्त दूषित होने पर भी खुजली की समस्या होती है।
  • ब्लड इन्फेक्शन के कारण होने वाले फोड़े-फुंसियों के कारण भी उस जगह खुजली होती है।
  • अगर आपके पेट में कीड़े हैं तो भी खुजली की तीव्र इच्छा होती है और व्यक्ति खुजली करने से खुद को रोक नहीं पाता।
  • किसी तरह की एलर्जी या धूप में ज्यादा घूमने की वजह से भी खुजली होने लगती है।
  • सिर में जुएं या रूसी हों तो वो भी खुजली की वजह बनते हैं।
  • पाचन शक्ति कमजोर होने की वजह से भी शरीर में खुजली होने लगती है।

खुजली भी संक्रमण जैसा

सेंटर ऑफ द स्टडी ऑफ इच के वैज्ञानिक ब्रायन ने एक अनोखा शोध किया है। इस शोध में यह बात सामने आई कि खुजली भी एक संक्रमण की तरह है। अगर आपके सामने बैठा कोई शख़्स खुजली करता है तो आप भी खुजली करने लगते हैं। इस तरह के संक्रमण वाली खुजली के लिए मस्तिष्क का ‘सुप्राकिएज़मैटिक न्यूक्लियस’ भाग ज़िम्मेदार होता है।

 

खुजलाने से क्यों मिलता है आराम ?

खुजली करने से हमें काफी आराम मिलता है और एक अलग तरह की संतुष्टि का अनुभव होता है। दरअसल, यह अनुभूति हमें इसलिए होती है क्‍योंकि इस दौरान हमारे मस्तिष्क से सेरोटोनीन नामक द्रव का स्राव होता है। सबसे ज़्यादा आराम हमें टखनों पर खुजली करने से मिलता है। खुजली के साथ एक दिलचस्प बात ये भी है कि आप जितना ज़्यादा खुजलाएंगे, आपको उतनी ही ज्यादा खुजली होगी।

Related Post

लखनऊ की आबोहवा को कम नुकसान पहुंचाती हैं गाड़ियां, दिल्ली की हवा सबसे जहरीली

Posted by - August 25, 2018 0
कोलकाता। गाड़ियों से निकलने वाले धुएं से शहर प्रदूषित हो रहे हैं। सबसे खराब हालत दिल्ली की है। यहां हर…

90 लाख रुपये में बना है मुंबई का ये सबसे महंगा पब्लिक टॉयलेट, दो महीने तक फ्री

Posted by - October 15, 2018 0
मुंबई। देश की औद्योगिक राजधानी कहे जाने वाले मुंबई में अबतक का सबसे महंगा सार्वजनिक शौचालय बनकर तैयार हो गया…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *