जंक फूड खाते हैं, तो आप में और ड्रग एडिक्ट में नहीं है कोई अंतर

60 0
मिशिगन। अगर आप आए दिन जंक फूड खाते हैं, तो आपमें और एक ड्रग एडिक्ट में कोई अंतर नहीं है। क्योंकि लगातार जंक फूड खाने वाले जब इससे तौबा करने की कोशिश करते हैं, तो उन्हें भी वैसी दिक्कतें होती हैं, जिस तरह की परेशानी किसी ड्रग एडिक्ट को नशा छोड़ने की कोशिश के दौरान होती है।

अमेरिकी रिसर्च का नतीजा

अमेरिका की मिशिगन यूनिवर्सिटी में हुई एक रिसर्च ने पहली बार बताया है कि जंक फूड खाने वाले जब इसे छोड़ने की कोशिश करते हैं, तो उनके शरीर में क्या प्रतिक्रिया होती है। इससे पहले हुई रिसर्च में सभी जानवरों को शक्कर से दूर रखने से होने वाले असर को देखा गया था। नई रिसर्च की प्रमुख एरिका शुल्ट का कहना है कि अब जंक फूड छोड़ने पर शरीर पर पाया गया असर लोगों को ऐसे खाने से दूर करने की कोशिशों में मदद करेगा।
 
नशे का क्या होता है असर ?
रिसर्च से पता चला है कि तंबाकू, ड्रग्स या शराब पीने वाले जब इन चीजों को लेना बंद कर देते हैं, तो उन्हें शारीरिक तौर पर काफी मुश्किल होती है। उन्हें तनाव होता है, सिरदर्द होता है, वो चिढ़ने लगते हैं और डिप्रेशन में चले जाते हैं। शुल्ट और उनके साथियों को 231 वयस्कों ने बताया कि जब वे जंक फूड नहीं खाते, तो दो से पांच दिन में वे दुखी हो जाते हैं। वो चिढ़ने लगते हैं। उनमें थकान आती है और कई अन्य शारीरिक दिक्कतें होने लगती हैं। शुल्ट का कहना है कि वो अब ऐसी रिसर्च करने वाली हैं, जिसमें जंक फूड खाने वालों को एक जगह रखकर और उनका जंक फूड बंद कराकर होने वाले असर को देखा जाएगा।
quitting junk food produces same affect as drug addiction

junk food, drug addiction, junk food as drug addiction, latest news in hindi, top news in hindi, research

जंक फूड खाते हैं, तो आप में और ड्रग एडिक्ट में नहीं है कोई अंतर

मिशिगन। अगर आप आए दिन जंक फूड खाते हैं, तो आपमें और एक ड्रग एडिक्ट में कोई अंतर नहीं है। क्योंकि लगातार जंक फूड खाने वाले जब इससे तौबा करने की कोशिश करते हैं, तो उन्हें भी वैसी दिक्कतें होती हैं, जिस तरह की परेशानी किसी ड्रग एडिक्ट को नशा छोड़ने की कोशिश के दौरान होती है।

अमेरिकी रिसर्च का नतीजा

अमेरिका की मिशिगन यूनिवर्सिटी में हुई एक रिसर्च ने पहली बार बताया है कि जंक फूड खाने वाले जब इसे छोड़ने की कोशिश करते हैं, तो उनके शरीर में क्या प्रतिक्रिया होती है। इससे पहले हुई रिसर्च में सभी जानवरों को शक्कर से दूर रखने से होने वाले असर को देखा गया था। नई रिसर्च की प्रमुख एरिका शुल्ट का कहना है कि अब जंक फूड छोड़ने पर शरीर पर पाया गया असर लोगों को ऐसे खाने से दूर करने की कोशिशों में मदद करेगा।
 
नशे का क्या होता है असर ?
रिसर्च से पता चला है कि तंबाकू, ड्रग्स या शराब पीने वाले जब इन चीजों को लेना बंद कर देते हैं, तो उन्हें शारीरिक तौर पर काफी मुश्किल होती है। उन्हें तनाव होता है, सिरदर्द होता है, वो चिढ़ने लगते हैं और डिप्रेशन में चले जाते हैं। शुल्ट और उनके साथियों को 231 वयस्कों ने बताया कि जब वे जंक फूड नहीं खाते, तो दो से पांच दिन में वे दुखी हो जाते हैं। वो चिढ़ने लगते हैं। उनमें थकान आती है और कई अन्य शारीरिक दिक्कतें होने लगती हैं। शुल्ट का कहना है कि वो अब ऐसी रिसर्च करने वाली हैं, जिसमें जंक फूड खाने वालों को एक जगह रखकर और उनका जंक फूड बंद कराकर होने वाले असर को देखा जाएगा।

Related Post

पाकिस्तान ने 26/11 के हमलावरों को बचाने के लिए मुख्य अभियोजक को हटाया

Posted by - April 30, 2018 0
पाक सरकार के इस कदम से षड्यंत्रकारियों पर कानूनी शिकंजा कसने के भारत के प्रयास को झटका लाहौर/मुंबई। पाकिस्तान के गृह मंत्रालय…

SC का बड़ा फैसला : दहेज उत्पीड़न में अब तुरंत हो सकेगी पति की गिरफ्तारी

Posted by - September 14, 2018 0
नई दिल्‍ली। दहेज उत्पीड़न के मामलों में सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार (14 सितंबर) को एक बड़ा फैसला सुनाया है। सर्वोच्च…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *