START की रिपोर्ट – दुनिया के आतंक प्रभावित देशों में भारत तीसरे नंबर पर

39 0

वाशिंगटन। आतंक प्रभावित देशों की सूची में इराक और अफगानिस्तान के बाद भारत लगातार दूसरे साल तीसरे नंबर पर बना हुआ है। अमेरिकी विदेश मंत्रालय की तरफ से गुरुवार (20 सितंबर) को जारी आंकड़े में ये बातें सामने आई हैं। बता दें कि देश में इन दिनों आतंकी हमलों में तेजी आई है। जम्‍मू-कश्‍मीर में आतंकी संगठन लगातार सुरक्षाबलों और पुलिस वालों को निशाना बना रहे हैं।

किसने जारी की है रिपोर्ट ?

अमेरिकी विदेश विभाग की नेशनल कंसोर्टियम फॉर द स्‍टडी ऑफ टेररिज्‍म एंड रिस्‍पोंसेज टू टेररिज्‍म (START) ने यह रिपोर्ट तैयार की है। रिपोर्ट के मुताबिक 2017 में दुनिया में आतंक का सर्वाधिक दंश इराक ने झेला। इसके बाद दूसरे नंबर पर अफगानिस्‍तान रहा। भारत का नंबर इन दोनों देशों के बाद आता है। बता दें कि पिछले साल भी इस मामले में भारत तीसरे नंबर पर था। इस रिपोर्ट के मुताबिक भारत में सबसे ज्‍यादा आतंकी हमले माओवादियों की ओर से किए गए।

सीपीआई माओवादी छठा सबसे खतरनाक समूह

START की रिपोर्ट के मुताबिक, भारत के सीपीआई (माओवादी) संगठन को 2017 का दुनिया का छठा सबसे खतरनाक आतंकी समूह बताया गया है। भारत में हुए 53 प्रतिशत हमलों में इसी का हाथ रहा है। 2017 में इस समूह ने कुल 317 हमले किए, जिनमें 233 लोगों की मौत हुई है। हालांकि इस संगठन के हमलों में 2016 की तुलना 12 फीसदी कमी आई है, लेकिन इस दौरान इसके हमलों में मारे गए लोगों की संख्‍या में 15 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है, जबकि घायलों की संख्या में 50 प्रतिशत की बढ़ोतरी देखी गई है। भारत के लिए निश्चित रूप से यह खतरे की घंटी है।

भारत समेत 5 देशों में 59 फीसदी हमले

2017 में दुनिया में हुए कुल आतंकवादी हमलों में से 59 फीसदी हमले भारत और पाकिस्तान सहित एशिया महाद्वीप के पांच देशों में हुए। इन हमलों का शिकार सबसे ज्यादा भारत, पाकिस्तान, अफगानिस्तान, इराक और फिलीपींस हुए। इनमें इराक में 23 फीसदी, अफगानिस्‍तान में 13 फीसदी, भारत में 9 फीसदी और पाकिस्‍तान में 7 फीसदी हमले हुए। वहीं इन हमलों में मरने वाले कुल लोगों में से आधे से अधिक मौतें तीन देशों इराक (24 फीसदी), अफगानिस्‍तान (13 फीसदी) और सीरिया (8 फीसदी) में हुईं।

जम्‍मू-कश्‍मीर में 24 फीसदी बढ़े आतंकी हमले

अमेरिकी विदेश विभाग की रिपोर्ट में दावा किया गया है कि जम्‍मू और कश्‍मीर में 2017 में आतंकी घटनाओं में 24 फीसदी का इजाफा हुआ है। इस राज्‍य में इन आतंकी हमलों में मारे जाने वाले लोगों की संख्‍या में इस दौरान 89 फीसदी की वृद्धि हुई है। रिपोर्ट के अनुसार, 2017 में भारत में कुल 860 आतंकी हमले हुए, जिनमें से 25 फीसदी हमले सिर्फ जम्‍मू-कश्‍मीर में हुए हैं।

दुनिया के सबसे खूंखार आतंकी संगठन

रिपोर्ट के मुताबिक इस्‍लामिक स्‍टेट (ISIS) दुनिया का सबसे खूंखार आतंकी संगठन है। इसने 2017 में दुनियाभर में 1321 आतंकी हमले किए, जिनमें कुल 7,120 लोगों की मौत हुई। इस सूची में दूसरे स्‍थान पर तालिबान है। इसने दुनियाभर में 907 हमले किए, जिनमें 4925 लोगों की मौत हुई। अल-शबाब तीसरे स्‍थान पर है, जिसने 573 हमले किए और 1894 लोगों को मारा। चौथे स्‍थान पर न्‍यू पीपल्‍स आर्मी है। इसके 363 हमलों में 200 लोगों की मौत हुई। पांचवें स्‍थान पर बोको हराम है। इसने 2017 में 337 हमले किए, जिनमें 1,577 लोगों की मौत हुई।

हिजबुल और टीटीपी भी है सूची में  

दुनिया के 20 सबसे खूंखार आतंकी संगठनों की सूची में भारत का सीपीआई (माओवादी) छठे स्‍थान पर है। इसके अलावा गोरखा जनमुक्ति मोर्चा (जीजेएम) को 14वें स्‍थान पर रखा गया है। जीजेएम ने 2017 में 70 हमले किए। इस सूची में पाकिस्‍तान का आतंकी संगठन तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्‍तान (टीटीपी) 11वें स्‍थान पर है। इसके 106 हमलों में 500 लोग मारे गए। वहीं भारत में आतंक फैलाने वाला पाकिस्‍तान का आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन 20वें स्‍थान पर है। इसने 49 हमले किए, जिसमें 47 लोग मारे गए। 2016 के मुकाबले इसके हमलों में 188 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है।

Related Post

यूपीए सरकार चाहती तो फ्रीज कर सकती थी क्वात्रोची का एकाउंट : सीबीआई

Posted by - September 28, 2017 0
नई दिल्ली। यूपीए सरकार यदि चाहती, तो बोफोर्स घोटाले के भगोड़े ओटावियो क्वात्रोची के बैंक खातों से पैसे की निकासी पर…

दिल्ली के आर्चबिशप ने कही ऐसी बात, मोदी सरकार के फैंस हो गए नाराज

Posted by - May 22, 2018 0
नई दिल्ली। ईसाइयों के कैथलिक समुदाय के बड़े धर्मगुरुओं में शुमार दिल्ली के आर्चबिशप अनिल कूटो ने विवादित बयान दिया…

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में खुलासा : खुदकुशी नहीं, आईएएस अनुराग की हुई हत्या

Posted by - September 27, 2017 0
कर्नाटक कैडर के आईएएस अधिकारी अनुराग तिवारी की मौत के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है. पोस्टमार्टम रिपोर्ट से खुलासा…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *