दुनिया के पहले ‘प्राइवेट यात्री’ के रूप में चांद की सैर करेगा यह शख़्स

163 0

वाशिंगटन। जाने-माने बिजनेसमैन एलन मस्क की एयरोस्पेस कंपनी ‘स्पेसएक्स’ ने चांद पर जाने वाले पहले सैलानी के नाम की घोषणा कर दी है। 42 साल के जापानी करोड़पति और व्यापारी युसाकु मायेज़ावा दुनिया के पहले ‘प्राइवेट पैसेंजर’ होंगे, जो चांद की यात्रा पर जाएंगे। बता दें कि 1972 के बाद ऐसा पहली बार होगा जब कोई इंसान चांद पर जाएगा।

2023 में करेंगे चांद की यात्रा

स्पेसएक्स ने इस मिशन के लिए वर्ष 2023  का वक्त निर्धारित किया है। अपने कैलिफोर्निया स्थित मुख्यालय से स्पेसएक्स ने मंगलवार (18 सितंबर) को इसका ऐलान किया। हालांकि स्‍पेसएक्‍स के फाउंडर एलन मस्क का यह भी कहना है कि ये रॉकेट का निर्माण पूरा हो जाने पर निर्भर करेगा। उसका निर्माण अभी जारी है। बता दें कि स्पेसएक्स ने वर्ष 2016 में बिग फैलक़ॉन रॉकेट (बीएफआर) लॉन्च किया था। इस लॉन्चिंग को आम लोगों के आंतरिक्ष में जाने की दिशा में बड़ा कदम माना जा रहा है।

कौन हैं युसाकु मायेजावा

युसाकु जापान के बिज़नेसमैन हैं। पिछले साल वह उस समय सुर्ख़ियों में आए थे, जब उन्होंने न्यूयॉर्क में आर्टिस्ट जीन मिशेल बास्केत की पेंटिंग को 110.5 मिलियन डॉलर में खरीदा था। वो अपने साथ चांद की यात्रा के दौरान दुनिया के 6 आर्टिस्ट्स को साथ ले जाएंगे ताकि वह जब धरती पर वापस आएं तो इस अनुभव को चित्रों के जरिए सबको बता सकें। बता दें कि युसाकु चांद पर उतरेंगे नहीं बल्कि वह चांद की यात्रा करेंगे। यानी बिग फैलक़ॉन रॉकेट के ज़रिए वह अंतरिक्ष में जाएंगे और फिर धरती पर वापस आ जाएंगे।

कौन हैं एलन मस्‍क

बता दें कि एलन मस्क सिलिकन वैली के जाने-माने बिज़नेसमैन हैं। वह इलेक्ट्रिक कार बनाने वाली कंपनी टेस्ला के फाउंडर हैं। उन्होंने वर्ष 2002 में एरोस्पेस की कंपनी स्पेक्सएक्स शुरू की थी और साल 2017 में कंपनी द्वारा डिज़ाइन किए गए रॉकेट को अंतरिक्ष में भेजा था। बीते सोमवार को मस्क ने बीएफ़आर के नए डिज़ाइन की एक तस्वीर ट्विटर पर साझा की थी, जो पिछले स्पेसक्रॉफ्ट रॉकेट से थोड़ा अलग है।

पहली बार 1969 में चांद पर गया था इंसान

वो 21 जुलाई 1969 की तारीख थी जब नील आर्मस्ट्रॉन्ग ने पहली बार चांद पर कदम रखकर इतिहास रच दिया था। इसके बाद पांच और अमेरिकी अभियान चांद पर भेजे गए। इसके तहत अब तक कुल 24 लोग चांद पर जा चुके हैं। दिसंबर 1972 में अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा ने आखिरी बार चांद पर इंसानों पर उतारा था। वर्ष 1972 में चांद पर पहुंचने वाले यूजीन सेरनन आख़िरी अंतरिक्ष यात्री थे। उनके बाद कोई इंसान चांद पर नहीं गया।

Related Post

START की रिपोर्ट – दुनिया के आतंक प्रभावित देशों में भारत तीसरे नंबर पर

Posted by - September 22, 2018 0
वाशिंगटन। आतंक प्रभावित देशों की सूची में इराक और अफगानिस्तान के बाद भारत लगातार दूसरे साल तीसरे नंबर पर बना…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *