कभी दुनिया के 100 अमीर लोगों में शुमार था वह, हुआ दिवालिया, संपत्ति होगी नीलाम

58 0

रियाद। एक समय दुनिया के 100 सबसे अमीर लोगों में शामिल सऊदी अरब के कारोबारी मान अल साने की संपत्ति सऊदी सरकार नीलाम करेगी। साने की कंपनी साद ग्रुप अब दिवालिया हो चुकी है और उन्‍हें दिए गए कर्ज को वसूलने के लिए सऊदी सरकार ने यह फैसला किया है। बता दें कि वर्ष 2007 में फोर्ब्‍स ने दुनिया के 100 सबसे अमीर लोगों की सूची में साने को शामिल किया था।

क्‍यों हो रही नीलामी ?

वर्ष 2009 में साने की कंपनी साद ग्रुप कर्ज नहीं चुका पाने के कारण दिवालिया हो गई थी। उन्‍हें कई बार कर्ज चुकाने के लिए वक्‍त दिया गया, लेकिन इसके बाद भी जब वे कर्ज नहीं चुका पाए तो उन्‍हें पिछले साल हिरासत में ले लिया गया था। साद ग्रुप पर 2009 में करीब 22 अरब डॉलर का कर्ज था। कंपनी के दिवालिया होने के बाद से ही कर्ज देने वाले अपनी रकम वापस पाने के लिए कोर्ट में लड़ाई लड़ रहे थे। अब तीन जजों की ट्रिब्‍यूनल ने कर्ज की रकम चुकाने के लिए साने की संपत्ति नीलाम करने के आदेश दिए हैं। इसके तहत अगले महीने अक्‍टूबर में सं‍पत्ति की नीलामी होगी।

अगले महीने शुरू होगी नीलामी

बता दें कि यह सऊदी अरब के इतिहास का सबसे बड़ा कर्ज विवाद है। ट्रिब्‍यूनल ने एतकान अलायंस को कर्ज विवाद निपटारे के लिए प्रॉपर्टी की नीलामी की जिम्‍मेदारी दी है। ट्रिब्‍यूनल ने अपने फैसले में कहा है कि साने की रियाद और जेद्दा में जो संपत्ति है, उसे पांच महीनों में नीलाम कर कर्ज का पैसा हासिल किया जाए। पहली नीलामी अक्‍टूबर महीने में होगी। इसमें पूर्वी राज्‍य के खोबर और दम्‍मम में मौजूद आवासीय इमारतों, बिना निर्माण वाले वाणिज्यिक प्‍लॉट और फार्म की बोली लगाई जाएगी। हालांकि अभी यह साफ नहीं हो पाया है कि नीलामी के बाद क्‍या साने को रिहा कर दिया जाएगा।

इसी साल मार्च महीने में साने की कंपनी साद ग्रुप के वाहनों की नीलामी की गई थी

कितनी संपत्ति होगी नीलाम ?

मीडिया रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि ये संपत्ति दो बिलियन रियाल (2.6 करोड़ डॉलर से लेकर 5.3 करोड़ डॉलर) तक में बिक सकती है। हालांकि सूत्रों का यह भी कहना है कि नीलामी में अभी देरी हो सकती है क्‍योंकि यहां का प्रॉपर्टी मार्केट अभी मंदी से जूझ रहा है। बता दें कि इसी साल मार्च महीने नीलामी के पहले चरण में साद ग्रुप के लगभग 900 वाहन नीलाम किए गए थे। इनमें ट्रक, बस, गोल्‍फ कार्ट और जेसीबी जैसे वाहन शामिल थे। इस नीलामी से करीब 125 मिलियन रियाल यानी 2.40 अरब रुपये जुटाए गए थे।

Related Post

सुप्रीम कोर्ट ने कहा – संसद में चर्चा के चलते किसी मुद्दे को नहीं छोड़ सकते हम

Posted by - October 27, 2017 0
सुप्रीम कोर्ट ने बृहस्पतिवार को स्पष्ट कहा कि संसद में चर्चा जारी होने के कारण हम किसी मुद्दे से दूर…

योगी के गोरखपुर में गुंडाराज : सरेआम लड़की को सड़क पर पीटा

Posted by - November 16, 2017 0
तिवारीपुर मोहल्‍ले में शोहदों की करतूत सीसीटीवी में कैद, बचाने आई महिलाओं को भी पीटा गोरखपुर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सूबे…

पाक के ऊपर से पीएम मोदी का विमान गुजरने पर थमाया 2.86 लाख का बिल

Posted by - February 19, 2018 0
‘रूट नेविगेशन’ के नाम पर पाकिस्‍तान ने समय-समय पर भारत से वसूले पैसे नई दिल्ली। पाकिस्‍तान के साथ अपने रिश्तों…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *