केंद्रीय मंत्री गिरिराज के फिर बिगड़े बोल, कहा – ‘2047 में फिर होगा भारत का विभाजन’

33 0
  • बोले गिरिराज – जनसंख्‍या नियंत्रण कानून नहीं बना तो देश में नहीं बचेगी सामाजिक समरसता

नई दिल्ली। अपने विवादित बयानों से अक्‍सर चर्चा में रहने वाले मोदी सरकार के मंत्री गिरिराज सिंह ने एक बार फिर अजीबोगरीब बयान दिया है। अब गिरिराज ने ट्वीट कर कहा है कि 2047 में फिर एक बार भारत का विभाजन हो सकता है। केंद्रीय मंत्री यूपी के अमरोहा में पत्रकारों से बात कर रहे थे।

क्‍या कहा केंद्रीय मंत्री ने ?

गिरिराज सिंह ने कहा कि आज देश में जनसंख्‍या नियंत्रण कानून बनाना जरूरी हो गया है। अगर हिंदुओं की जनसंख्‍या इसी तरह कम होती रही तो देश में सामाजिक समरसता बचेगी ही नहीं। अगर यही हालात रहे तो देश में एक और विभाजन की स्थिति पैदा हो जाएगी। केंद्रीय मंत्री ने अपने ट्वीट में कहा, ‘1947 में धर्म के आधार पर ही देश का विभाजन हुआ, वैसी ही परिस्थिति पुनः 2047 तक होगी। 72 साल में जनसंख्या 33 करोड़ से बढ़कर 135.7 करोड़ हो गई है। विभाजनकारी ताकतों का जनसंख्या विस्फोट भयावह है। अभी तो 35A के बहस पर हंगामा हो रहा है, आने वाले वक़्त में तो एक भारत का ज़िक्र करना असंभव होगा।’

और क्‍या कहा बयान में ?

केंद्र सरकार में सूक्ष्‍म, लघु और मध्‍यम उद्योग मंत्री गिरिराज सिंह  ने अपने बयान में जिन 54 जिलों का जिक्र किया है, उनमें से 5 जिले केरल के, 9 पश्चिम बंगाल के, 12 असम, 4 बिहार, 17 उत्‍तर प्रदेश और 2 झारखंड के हैं। केंद्रीय मंत्री ने यह भी दावा किया कि इन जिलों में हिंदुओं की संख्‍या में भारी गिरावट आई है। उन्‍होंने कहा कि केरल के मलप्‍पुरम समेत कई जिलों में गैर मुस्लिमों के प्रवेश पर रोक लगा दी गई है।

पहले भी रहे विवादों में 

बता दें कि इससे पहले भी कई बार गिरिराज सिंह गाय, मॉब लिंचिंग, हिन्दू धर्म, गंगा पर विवादित बयान देने की वजह से चर्चा में रहे हैं। केंद्रीय मंत्री ने एनआरसी विवाद में भी कूदते हुए कहा था कि एनआरसी में जिन लोगों का नाम शामिल नहीं है, वो घुसपैठिया हैं। केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘उन्हें जहां जाना होगा जाएंगे, हमनें कोई ठेका लिया है ? ’  उन्होंने ये भी कहा कि वे लोग वोट के सौदागर हैं जो घुसपैठियों के मानवाधिकार की बात कर रहे हैं। इसके अलावा राहुल गांधी की कैलाश मानसरोवर यात्रा से आई तस्वीरों को भी गिरिराज सिंह ने फर्जी बता दिया था, हालांकि वो तस्वीरें सही साबित हुई थीं।

Related Post

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *