सर्वे में खुलासा : दुनिया में आत्महत्या करने वाली हर तीसरी महिला भारतीय

197 0

नई दिल्‍ली। एक ग्‍लोबल सर्वे में भारतीय महिलाओं के लिए काफी निराश करने वाली खबर आई है।  ‘द लांसेट पब्लिक हेल्थ’ जरनल में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार,  वर्ष 2016 में पूरी दुनिया में जितनी महिलाओं ने आत्‍महत्‍या की, उनमें से हर तीसरी महिला भारतीय थी। निश्‍चय ही यह रिपोर्ट भारत के नजरिए से परेशान करने वाली है।

इनमें विवाहित महिलाएं ज्‍यादा

सर्वे रिपोर्ट में बताया गया है कि सबसे ज्यादा आत्महत्या शादीशुदा महिलाएं करती हैं। वर्ष 1990-2016 में छपी रिपोर्ट के अनुसार, दुनिया भर में सुसाइड करने वाली 10 महिलाओं में 4 भारत की होती थीं, लेकिन वर्ष 2016 में ये आंकड़ा बढ़कर करीब 37  प्रतिशत हो गया है। पुरुषों में यह आंकड़ा 24.3 फीसदी का रहा। बता दें कि भारत में जो महिलाएं आत्महत्या करती हैं, उनमें से 71 प्रतिशत की उम्र 15 से 39 साल के बीच है। वर्ष 1990 से लेकर 2016 तक इसमें 40 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। 2016 में भारत में अनुमानित तौर पर 2,30,314 लोगों ने आत्महत्या की थी।

क्‍या है कारण ?

रिसर्च से जुड़ी एक शोधकर्ता का कहना है कि भारतीय परिवेश में ये माना जाता है कि महिलाओं के लिए शादी अपेक्षाकृत कम सुरक्षा के भाव से जुड़ी होती है। महिलाओं के आत्महत्या करने के मुख्य कारणों में कम उम्र में शादी, कम उम्र में मां बन जाना, अरेंज मैरिज, पति और सास द्वारा प्रताड़ित करना और आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर न होना शामिल हैं। इन सभी कारणों से महिलाएं मानसिक रूप से कमजोर हो जाती हैं। इस तनाव से उबरने के लिए उनके पास न तो कोई साधन होता है और न ही कोई उनकी मदद करता है। ऐसे में वे यह घातक कदम उठाने को मजबूर हो जाती हैं।

तमिलनाडु, कर्नाटक टॉप पर

स्टडी के मुताबिक, आत्महत्या करने के मामले में तमिलनाडु (25.3), कर्नाटक (23.5) और वेस्ट बंगाल (20.6)  टॉप 3 पर हैं। इसके बाद त्रिपुरा (20.3), आंध्र प्रदेश (19.8) और तेलंगाना (18.8) का नंबर आता  है। जम्मू-कश्मीर, मिजोरम, मेघालय, नगालैंड, दिल्ली, पंजाब, झारखंड और बिहार कम सुसाइड वाले राज्यों में से हैं।

Related Post

पाक में नहीं थमा बवाल, हिंसक झड़प में 6 की मौत, 200 घायल

Posted by - November 26, 2017 0
इस्‍लामाबाद। पाकिस्तान सरकार ने पुलिस और कट्टरपंथी धार्मिक गुटों के प्रदर्शनकारियों के बीच झड़पों में 6 लोगों के मारे जाने…

अब मोबाइल पेमेंट का बदलेगा तरीका, आपकी आवाज से होगा ट्रांजैक्‍शन

Posted by - October 29, 2017 0
नई दिल्ली। आने वाले वर्षों में मोबाइल पेमेंट और सरल होने वाला है। मोबाइल पेमेंट फोरम ऑफ इंडिया (एमपीएफआई) यूजर फ्रेंडली…

केंद्रीय मंत्री गिरिराज के फिर बिगड़े बोल, कहा – ‘2047 में फिर होगा भारत का विभाजन’

Posted by - September 16, 2018 0
बोले गिरिराज – जनसंख्‍या नियंत्रण कानून नहीं बना तो देश में नहीं बचेगी सामाजिक समरसता नई दिल्ली। अपने विवादित बयानों से…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *