राष्ट्रपति ने जस्टिस रंजन गोगोई को नियुक्त किया CJI, 3 अक्टूबर को संभालेंगे पद

238 0

नई दिल्ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने जस्टिस रंजन गोगोई को भारत का अगला चीफ जस्टिस नियुक्त किया है। वो देश के 46वें प्रधान न्‍यायाधीश होंगे। उन्‍हें 3 अक्‍टूबर को शपथ दिलायी जाएगी। वर्तमान चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा अगले महीने 2 अक्‍टूबर को सेवानिवृत्त हो रहे हैं। जस्टिस गोगोई का कार्यकाल 13 माह का होगा और वह अगले वर्ष 17 नवंबर को रिटायर होंगे।

CJI दीपक मिश्रा ने की थी सिफारिश

बता दें कि प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा ने जस्टिस रंजन गोगोई का नाम अगले CJI के लिए केंद्र सरकार को भेजा था। उन्‍होंने कानून एवं न्याय मंत्रालय को लिखे पत्र में अगले प्रधान न्यायाधीश के लिए वरिष्ठतम न्यायाधीश न्यायमूर्ति गोगोई के नाम की सिफारिश की थी।

नियुक्ति को लेकर लग रही थीं अटकलें

बता दें कि जब न्यायमूर्ति गोगोई सहित उच्चतम न्यायालय के चार वरिष्ठतम न्यायाधीशों ने इस वर्ष जनवरी में एक संवाददाता सम्मेलन कर चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा की कार्यशैली पर सवाल उठाए थे। इन न्यायाधीशों ने विभिन्न मुद्दों को लेकर प्रधान न्यायाधीश न्यायमूर्ति मिश्रा की आलोचना की थी। संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करने वालों में न्यायमूर्ति गोगोई भी शामिल थे। इसके बाद से ही न्यायमूर्ति गोगोई की अगले प्रधान न्यायाधीश के तौर पर नियुक्ति को लेकर अटकलें लगनी शुरू हो गई थीं।

कानून मंत्री ने किया था आग्रह

कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने इस विवाद के बाद पिछले दिनों कहा था कि अगले प्रधान न्यायाधीश की नियुक्ति को लेकर सरकार के इरादे पर सवाल नहीं उठाया जाना चाहिए। उन्होंने कहा था कि परंपरा के तहत वर्तमान प्रधान न्यायाधीश द्वारा अगले प्रधान न्यायाधीश के लिए नाम सुझाने पर कार्यपालिका निर्णय लेगी। बता दें कि कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने हाल में न्यायमूर्ति दीपक मिश्रा से अगले प्रधान न्यायाधीश के लिए नाम की सिफारिश करने का आग्रह किया था।

कैसे होती है नियुक्ति ?

उच्चतम न्यायालय में न्यायाधीशों की नियुक्ति से संबंधित प्रतिवेदन (एमओपी) के अनुसार, ‘भारत के प्रधान न्यायाधीश के पद पर उच्चतम न्यायालय के वरिष्ठतम न्यायाधीश की नियुक्ति होनी चाहिए, जिसे उस पद के लिए उचित माना जाए। इस प्रक्रिया के तहत सीजेआई से सिफारिश प्राप्त होने के बाद कानून मंत्री उसे प्रधानमंत्री के समक्ष रखते हैं, जो इस मामले में राष्ट्रपति को सलाह देते हैं।’

Related Post

यूपी : मिड-डे मील के नाम पर बच्चों को परोसा जा रहा स्तरहीन खाना, ऐसे न मिलेगी पौष्टिकता न बढ़ेगी उपस्थिति

Posted by - November 28, 2018 0
बहराइच। सरकारी स्कूलों में मिड डे मील स्कीम लागू है, लेकिन बच्चों को परोसे जाने वाले खाने को लेकर अक्सर…

अफगानिस्तान में भारतीय दूतावास के पास आत्मघाती हमला, 14 की मौत

Posted by - June 17, 2018 0
जलालाबाद के नानगरहर प्रांत के गवर्नर के कार्यालय के बाहर हुआ हमला, हमले में 45  घायल काबुल। पूर्वी अफगानिस्तान के जलालाबाद में…

इंदौर के लड़के ने मिस्र और सूडान के बीच बनाया अपना देश

Posted by - November 15, 2017 0
सुयश दीक्षित ने पापा को बनाया प्रधानमंत्री और खुद बना राजा, संयुक्‍त राष्‍ट्र से मांगी मान्‍यता नई दिल्ली: हर घर के दरवाजे…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *