भारत में बढ़ रहा पेट और लीवर का कैंसर, नहीं बच पाते हैं 80 फीसदी मरीज

45 0
नई दिल्ली। कैंसर दुनियाभर में दूसरा सबसे जानलेवा मर्ज है और भारत में भी हर साल लाखों लोग इसकी गिरफ्त में आते हैं। अब एक स्टडी से पता चला है कि भारत में पेट का कैंसर बढ़ रहा है। साथ ही ये भी पता चला है कि जागरूकता की कमी की वजह से 80 फीसदी कैंसर मरीजों को बचाना संभव नहीं होता।

बढ़ रहा है पेट और लीवर का कैंसर

2016 में हुई स्टडी के आंकड़ों के मुताबिक सबसे ज्यादा 9 फीसदी मरीज पेट और लीवर कैंसर के देखे जा रहे हैं। ब्रेस्ट कैंसर के मरीज 8.2 फीसदी, फेफड़े के कैंसर मरीज 7.5 फीसदी, होंठ और मुंह के कैंसर के 7.2 फीसदी मरीज, खाने की नली के कैंस के 6.8 फीसदी, आंतों और गुदा के कैंसर के 5.8 फीसदी मरीज, ब्लड कैंसर के 5.2 फीसदी मरीज और सर्वाइकल कैंसर के 5.2 फीसदी मरीज हैं।

इस वजह से बढ़ रहे हैं पेट और लीवर कैंसर

डॉक्टरों का कहना है कि पेट और लीवर कैंसर के मरीजों की तादाद बढ़ने की बड़ी वजह मोटापा और जंग फूड हैं। जबकि, गर्भ रोकने के लिए ली जाने वाली गोलियां और जीन में बदलाव की वजह से ब्रेस्ट कैंसर के मामले बढ़ रहे हैं। 67 हजार लोगों में पाया गया कि तंबाकू और वायु प्रदूषण की वजह से इनमें फेफड़ों का कैंसर हुआ।

कैंसर के मरीजों की तादाद नहीं हो रही कम

लैंसेट में छपी स्टडी बताती है कि कैंसर के मरीजों की तादाद लगातार बढ़ रही है। 1990 में जहां भारत में 5.5 लाख लोगों को कैंसर था। वहीं, 2016 में कैंसर के 10.6 लाख नए मरीज मिले। ऐसे में सरकारी तंत्र को चाहिए कि वो इस खतरनाक बीमारी को रोकने के लिए नए उपाय करे और लोगों को जागरूक करे, लेकिन फिलहाल कैंसर की रोकथाम के लिए सरकार की ओर से किए जाने वाले उपायों को ऊंट के मुंह में जीरा ही माना जा सकता है।

Related Post

केरल में फिर RSS कार्यकर्ता पर हमला, BJP ने सत्तारूढ़ लेफ्ट पर लगाया आरोप

Posted by - October 16, 2017 0
केरल में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के कार्यकर्ताओं के खिलाफ हिंसा थमने का नाम नहीं ले रही है. कन्नूर में…

भाजपा ने दलितों-पिछड़ों के प्रति सोच नहीं बदली तो अपना लूंगी बौद्ध धर्म : मायावती

Posted by - October 24, 2017 0
बसपा प्रमुख ने बीजेपी पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के ‘जातिवादी एजेंडे‘ को आगे बढ़ाने का लगाया आरोप आजमगढ़। बहुजन समाज पार्टी…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *