हरियाणा, जम्मू-कश्मीर व बिहार में भूकंप के तेज झटके, रिक्‍टर स्‍केल पर तीव्रता 4.6

187 0

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर और हरियाणा के कई इलाकों में बुधवार (12 सितंबर) तड़के भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए। जम्मू-कश्मीर में सुबह 5.15 बजे भूकंप के झटके लगे, जिसकी तीव्रता रिक्टर स्केल पर 4.6 मापी गई। वहीं, हरियाणा के झज्जर में सुबह 5.43 बजे भूकंप के झटके महसूस हुए, जिसकी तीव्रता 3.1 थी। उधर, बिहार के कई जिलों में भी भूकंप के झटके आए। भूकंप के झटकों के बाद लोग अपने-अपने घरों से बाहर निकल आए। अभी तक किसी के हताहत होने की खबर नहीं है।

बिहार के कई जिलों में झटके

पटना समेत बिहार के कई जिलों में बुधवार सुबह 10.21 बजे भूकंप के झटके महसूस किए गए। कटिहार में भूकंप के दो तेज झटके महसूस किए गए। इसके अलावा बिहार के पूर्णिया, अररिया, मधेपुरा और खगड़िया में भी भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं। बिहार के अलावा पश्चिम बंगाल और असम में भी करीब 20 सेकेंड तक भूकंप के झटके महसूस किए गए। बांग्लादेश की राजधानी ढाका में भी भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं।

दो दिन पहले भी आया था भूकंप

बता दें कि इससे पहले 10 व 11 सितंबर यानी रविवार और सोमवार को दिल्ली सहित पूरे राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) में भूकंप के झटके महसूस किए गए थे। ये झटके सुबह 6 बजकर 28 मिनट पर आए थे। रविवार 10 सितंबर को शाम 4 बजकर 37 मिनट पर हरियाणा के झज्जर जिले में झटके महसूस किए गए थे, जिसकी तीव्रता रिक्टर पैमाने पर 3.8 आंकी गई थी। भूकंप का केंद्र जमीन के 10 किलोमीटर नीचे हरियाणा के झज्जर जिले में था। वहीं, अगले दिन सोमवार को सुबह यूपी के मेरठ में भूकंप आया, जिसकी वजह से दिल्ली में भी भूकंप के झटके महसूस किए गए। भूकंप सोमवार सुबह 6.28  मेरठ के खरखौदा में आया, जिससे लोगों में दहशत फैल गई। हालांकि, इसके कारण जान माल के नुकसान की कोई खबर नहीं है।

भूकंप आए तो बरतें सावधानी 

भूकंप आने के बाद सावधानी बरतना ही इससे बचाव का रास्‍ता है। अगर आप घर से बाहर हैं तो ऊंची इमारतों, बिजली के खंभों आदि से दूर रहें। जब तक झटके खत्म न हों, बाहर ही रहें। गाड़ी चलाते समय भूकंप के झटके महसूस हों तो सड़क किनारे गाड़ी रोककर गाड़ी में ही बैठे रहें। इस दौरान किसी पुल या सड़क पर जाने से बचना चाहिए। अगर आप भूकंप के वक्त घर में हैं तो फर्श पर बैठ जाएं और किसी मज़बूत मेज के नीचे रहने का प्रयास करें। कांच, खिड़कियों, दरवाज़ों

Related Post

START की रिपोर्ट – दुनिया के आतंक प्रभावित देशों में भारत तीसरे नंबर पर

Posted by - September 22, 2018 0
वाशिंगटन। आतंक प्रभावित देशों की सूची में इराक और अफगानिस्तान के बाद भारत लगातार दूसरे साल तीसरे नंबर पर बना…

सावधान ! 48 घंटे में आ सकता है सोलर स्टॉर्म, ठप हो जाएंगी संचार सेवाएं

Posted by - May 7, 2018 0
अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने तस्वीर जारी कर दी जानकारी, पश्चिमी देशों में दिखेगा ज्‍यादा असर धरती से गर्म किरणों…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *