भोपाल पुलिस बताने को तैयार नहीं, कहां से दबोचा गया 33 ट्रक ड्राइवरों का हत्यारा

451 0

विश्वजीत भट्टाचार्य

लखनऊ/भोपाल। भोपाल पुलिस ने बीते दिनों 33 ट्रक ड्राइवरों की हत्या के आरोपी आदेश खामरा को पकड़ा है। मीडिया की रिपोर्टों में कहा गया है कि यूपी के सुलतानपुर जिले से खामरा को पकड़ा गया, हालांकि भोपाल पुलिस ही इस बात से इनकार कर रही है। लेकिन भोपाल पुलिस के आला अफसर ये बताने को तैयार नहीं हैं कि आदेश को आखिर पकड़ा कहां से गया। सवाल ये है कि आखिर भोपाल पुलिस ये क्यों नहीं बता रही कि इतने बड़े अपराधी को उसने कहां से दबोचा है ?

एडिशनल एसपी ने किया इनकार

इस मामले की जांच से जुड़े भोपाल के एडिशनल एसपी दिनेश सिंह कौशल से the2ishindi.com  ने फोन पर आदेश खामरा की गिरफ्तारी के बारे में बात करने पर उन्होंने ये बताने से इनकार कर दिया कि 33 ट्रक ड्राइवरों की हत्या करने वाला आदेश खामरा कहां से पकड़ा गया है। ये कहे जाने पर कि मीडिया की रिपोर्ट तो उसे यूपी के सुलतानपुर से गिरफ्तार बता रही है, कौशल ने कहा कि गिरफ्तारी कहां से हुई, ये बड़ी बात नहीं है। बड़ी बात ये है कि इतने बड़े अपराधी को पुलिस ने दबोच लिया है।

टीम में शामिल रहीं सीएसपी का कुछ कहने से इनकार

वहीं, आदेश खामरा को पकड़ने वाली टीम में शामिल सीएसपी और एशियाड की ताइक्वांडो प्रतियोगिता में ब्रांज मेडलिस्ट बिट्टू शर्मा ने इस मामले में कुछ भी कहने से इनकार कर दिया है। उन्होंने the2ishindi.com से बातचीत में कहा कि अब खामरा के बारे में उनसे बड़े अफसर जांच कर रहे हैं। इस वजह से वे ही इसके बारे में सबकुछ बता सकते हैं। बिट्टू शर्मा से जब ये पूछा गया कि क्या यूपी के सुलतानपुर से खामरा पकड़ा गया, तो उन्होंने कहा कि आप बड़े अफसरों से इस बारे में पूछिए।

सुलतानपुर की एडिशनल एसपी को नहीं है जानकारी

भोपाल पुलिस ने आदेश खामरा की गिरफ्तारी के बारे में कुछ बताने से इनकार किया, तो इस बारे में यूपी के सुलतानपुर की एडिशनल एसपी डॉ. मीनाक्षी कात्यायन से हमने बात की। कात्यायन ने कहा कि इस नाम के शख्स की जिले से गिरफ्तारी के बारे में उनके पास कोई जानकारी नहीं है।

खामरा के चाचा के बारे में भी भोपाल पुलिस चुप

आदेश खामरा की गिरफ्तारी के बाद ये खबरें भी छपीं कि उसका चाचा अशोक खामरा भी 100  ट्रक ड्राइवरों की हत्या कर चुका था और करीब 10 साल पहले पुलिस के हत्थे चढ़ा था। भोपाल लाए जाते वक्त ट्रेन में पुलिसवालों को बेहोशी की दवा देकर वो फरार हो गया और उसके बाद से वह पकड़ा नहीं गया। इस बारे में पूछने पर भोपाल के एडिशनल एसपी दिनेश सिंह कौशल ने कहा कि उन्होंने मीडिया में अशोक के बारे में छपी ये खबर पढ़ी है, लेकिन इसकी तस्दीक वो नहीं कर सकते। कौशल ने कहा कि जांच के बाद ही पता चलेगा कि आदेश खामरा और अशोक खामरा के बीच कोई संबंध है या नहीं।

 

Related Post

म्यांमार बॉर्डर पर उग्रवादियों के खिलाफ भारतीय सेना का बड़ा ऑपरेशन

Posted by - September 28, 2017 0
आर्मी ने नगा उग्रवादियों के कैंप पर बोला हमला, उग्रवादियों को भारी नुकसान, कई हताहत नई दिल्ली भारतीय सेना ने म्यांमार सीमा पर…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *