ऑस्‍ट्रेलिया में हुआ शोध : आखिर तेज म्यूजिक पर क्यों थिरकने लगते हैं पैर ?

82 0

नई दिल्ली। अक्सर आपने देखा होगा कि जब भी तेज म्यूजिक बजता है, तब हमारे पैर अपने आप थिरकने लग जाते हैं। लेकिन ऐसा क्यों होता है ? क्या इसकी वजह जानते हैं आप ? ऑस्ट्रेलिया में इसी बात पर एक शोध किया गया। जानिए इसके क्या परिणाम सामने आए –

शोध में क्‍या आया सामने ?

शोधकर्ताओं ने अपने अध्‍ययन में पाया कि म्‍यूजिक सुनने के दौरान हमारे दिमाग में हरकत होती है। दिमाग की हरकत को समझने के लिए ‘इलेक्ट्रोएन्सेफेलोग्राफी’ नाम के एक यंत्र का इस्तेमाल किया गया। वास्‍तव में म्यूजिक पर पैरों का थिरकना उसके बेस (BASS) पर निर्भर करता है। रिसर्चर्स ने पाया कि दिमाग की हर हरकत धुन की आवृत्ति पर निर्भर करती है। अगर किसी गाने में बेस ज्यादा है तो पैर थिरकने के लिए ज्यादा मचलेंगे और लोग ज्यादा नाचेंगे। वहीं कम बेस वाले गाने लोगों को नाचने पर मजबूर नहीं कर पाते।

म्यूजिक थेरपी से इलाज भी संभव

वैज्ञानिकों को उम्मीद है कि उनकी रिसर्च कई तरह के इलाज में मददगार साबित हो सकती है। कई जगह म्यूजिक थेरेपी के जरिए लोगों का डिप्रेशन दूर किया जा रहा है। इससे पहले अमेरिका में हुई रिसर्च में सामने आया था कि बच्‍चों की नेगेटिविटी, निराशा और इमोशंस संबंधी समस्याओं को म्यू्‍जिक थेरेपी के जरिए आसानी से दूर किया जा सकता है।

Related Post

विवादित धर्म प्रचारक जाकिर नाइक को भारत को नहीं सौंपेगा मलेशिया

Posted by - July 6, 2018 0
मलेशिया के प्रधानमंत्री महातिर बोले – जब तक समस्या खड़ी नहीं करता, भारत को नहीं सौंपेंगे कुआलालंपुर। विवादित इस्लामिक प्रचारक…

होंडा ने लांच किया एक्टिवा 5G स्कूटर, जानें क्या है इसमें ख़ास

Posted by - March 15, 2018 0
होंडा मोटरसाइकिल्स एंड स्कूटर्स इंडिया (HMSI) ने भारत में नया होंडा एक्टिवा 5G स्कूटर लॉन्च किया है। होंडा के इस नए स्कूटर की कीमत 52,460 रुपये है। आपको बता दें कि…

सावधान इंडिया ! कभी भी गिर सकता है बस की साइज वाला चीन का स्पेस स्टेशन

Posted by - March 31, 2018 0
नई दिल्ली। चीन की अंतरिक्ष प्रयोगशाला तियांगोंग-1 धरती के बेहद नजदीक आ चुकी है। ख़बरों की मानें तो कि तियांगोंग-1 रविवार यानी 1 अप्रैल को धरती…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *