SC/ST Act पर ताई ने मोदी सरकार को लगाई फटकार

143 0
  • सुमित्रा महाजन ने कहा – ‘बराबरी में लाने के लिए दूसरे तबके पर अन्या‍य करना ठीक नहीं’
  • लोकसभा अध्‍यक्ष बोलीं – ‘बच्चों को दी जा चुकी चॉकलेट समझा-बुझाकर ही ली जा सकती है वापस’

नई दिल्ली। SC/ST एक्‍ट में संशोधनों पर सवर्ण समाज के आक्रोश के बीच लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने अहम सुझाव दिए हैं। उन्‍होंने कहा कि इन कानूनी बदलावों को लेकर राजनीति नहीं की जा सकती, क्योंकि कानून का मूल स्वरूप बरकरार रखने के लिए संसद में सभी पार्टियों ने मतदान किया था। उन्‍होंने कहा कि सभी राजनीतिक दलों को इस विषय में मिल-बैठकर विचार-विमर्श करना चाहिए। लोकसभा अध्यक्ष यहां भाजपा के व्यापारी प्रकोष्ठ के एक कार्यक्रम में बोल रही थीं।

क्‍या कहा लोकसभा अध्‍यक्ष ने ?

लोकसभा अध्यक्ष ने SC/ST एक्‍ट से सम्बद्ध कानूनी बदलावों को लेकर विचार-विमर्श की जरूरत पर बल देते हुए कहा, ‘यह सामाजिक स्थिति ठीक नहीं है कि पहले एक तबके पर अन्याय किया गया था, तो इसकी बराबरी करने के लिए अन्य तबके पर भी अन्याय किया जाए।’ सुमित्रा महाजन ने कहा, ‘हमें अन्याय के मामले में बराबरी नहीं करनी है, बल्कि हमें लोगों को न्याय देना है। न्याय लोगों को समझाकर ही दिया जा सकता है। सबके मन में यह भाव भी आना चाहिए कि छोटी जातियों पर अत्याचार नहीं किया जाएगा।’

कहानी के जरिए दिया संदेश

सुमित्रा महाजन ने कहा, ‘कानून तो संसद को बनाना है, लेकिन सभी सांसदों को मिलकर इस विषय पर सोचना चाहिए। इस विचार-विमर्श के लिए उचित माहौल बनाना समाज के सभी लोगों की जिम्मेदारी है। लोकसभा अध्यक्ष ने एक ‘मनोवैज्ञानिक कहानी’ के माध्यम से अपनी बात समझाई। उन्होंने कहा, ‘मान लीजिए कि अगर मैंने अपने बेटे के हाथ में बड़ी चॉकलेट दे दी और मुझे बाद में लगा कि एक बार में इतनी बड़ी चॉकलेट खाना उसके लिए अच्छा नहीं होगा। अब आप बच्चे के हाथ से वह चॉकलेट जबरन लेना चाहें तो आप इसे नहीं ले सकते। ऐसा करने पर वह गुस्सा करेगा और रोएगा, मगर दो-तीन समझदार लोग बच्चे को समझा-बुझाकर उससे चॉकलेट ले सकते हैं।’  लोकसभा अध्यक्ष ने कहा, ‘किसी व्यक्ति को दी हुई चीज अगर कोई तुरंत छीनना चाहे तो विस्फोट हो सकता है।’

Related Post

बारामुला व शोपियां में मुठभेड़, जैश और हिज्ब के कमांडरों सहित चार दुर्दात आतंकी ढेर

Posted by - October 10, 2017 0
श्रीनगर : सेना ने कश्मीर में आतंकियों के खात्मे का अभियान तेज करते हुए सोमवार को दो मुठभेड़ों में जैश…

अब सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ तय करेगी महिलाओं का खतना वैधानिक है या नहीं

Posted by - September 24, 2018 0
नई दिल्ली। दाऊदी बोहरा समुदाय की नाबालिग लड़कियों के खतना के खिलाफ दाखिल याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *