इस देश में बिना सुरक्षा के सड़कों पर घूमते हैं राष्ट्रपति, सिर्फ 33 है यहां की आबादी

69 0

नेवादा। भारत में प्रधानमंत्री या राष्ट्रपति को प्रोटोकॉल के तहत कई प्रकार की सुरक्षा दी जाती है। इनमें सुरक्षा एजेंसियां, अर्ध सैनिक बल, सीआईएसएफ, एनएसजी कमांडो और पुलिस सुरक्षा देते हैं। आज हम आपको एक ऐसे देश के बारे में बताने जा रहे है, जहां का राष्ट्रपति अकेले सड़क पर घूमता है। उसके साथ सुरक्षा का कोई तामझाम नहीं होता। खास बात यह है कि इस देश की आबादी महज 33 है।

कौन सा है ये देश

इस छोटे से देश का नाम मोलोसिया है। यह देश US के नेवादा में स्थित है। 1.3 एकड़ में फैले इस देश के अपने अलग कानून, ट्रेडिशन, यहां तक कि अलग करेंसी भी है। यहां 40 साल से एक तानाशाह राज कर रहा है। 1977 में केविन बॉघ और उनके एक दोस्त के दिमाग में अलग देश बनाने का विचार आया था। दोनों ने मिलकर मोलोसिया को एक स्‍वतंत्र देश घोषित कर दिया। तभी से केविन इस छोटे से देश के राष्ट्रपति हैं। उन्होंने खुद को तानाशाह घोषित कर रखा है। उनकी बीवी देश की पहली महिला का दर्जा रखती हैं। इस छोटे से देश में मात्र 33 नागरिक रहते हैं। ज्यादातर नागरिक केविन के रिश्तेदार हैं, जो इस देश के बॉर्डर के नजदीक रहते हैं।

यहां हैं सारी सुविधाएं

बता दें कि इस देश को अभी तक दुनिया की किसी भी सरकार से मान्यता प्राप्त नहीं हुई है। इस छोटे से देश में स्टोर, लाइब्रेरी, श्मशान घाट के अलावा और भी ढेर सारी सुविधाएं मौजूद हैं।

दूर-दूर से आते हैं टूरिस्‍ट

यहां बड़ी संख्‍या में टूरिस्ट घूमने आते हैं। यहां आने के लिए टूरिस्ट को अपने पासपोर्ट पर स्टैम्प लगवाना पड़ता है। इस देश में घूमने के लिए टूरिस्टों को केवल 2 घंटे दिए जाते हैं। इस ट्रिप में केविन खुद टूरिस्टों को देश की बिल्डिंग्स और सड़कों को दिखाते हैं।

Related Post

रेप केस में आसाराम समेत 3 लोग दोषी करार, जोधपुर के कोर्ट ने सुनाया फैसला

Posted by - April 25, 2018 0
जोधपुर। रेप केस में जोधपुर की निचली अदालत ने आसाराम को दोषी करार दिया है। जज मधुसूदन शर्मा ने जोधपुर सेंट्रल…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *