दिलीप कुमार की तबीयत अचानक फिर बिगड़ी, मुंबई के लीलावती अस्पताल में एडमिट

101 0

मुंबई। बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता दिलीप कुमार की तबीयत मंगलवार (4 सितंबर) को देर रात अचानक फिर बिगड़ गई। उन्‍हें मुंबई के लीलावती हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया है। रिपोर्ट के मुताबिक, उन्‍हें सीने में इन्‍फेक्‍शन की शिकायत थी जिसके कारण उन्‍हें सांस लेने में तकलीफ हो रही थी। ये जानकारी उनके ट्विटर अकाउंट पर साझा की गई है।

क्‍या कहा डॉक्‍टरों ने ?

बता दें  कि दिलीप कुमार कई बार अपने रूटीन चेकअप के लिए अस्पताल जाते रहते हैं, लेकिन इस बार उनकी हालत ज्यादा खराब बताई जा रही है। उनकी उम्र इस समय 95 साल है। हालांकि डॉक्‍टरों ने बताया है कि चिंता की कोई बात नहीं है और वह वे रूटीन चेकअप के लिए आए हैं। उनकी सेहत के बारे में किए गए ट्वीट के अंत में उनके लिए दुआ मांगने की बात कही गई है। उनकी तबीयत खराब होने की जानकारी मिलते ही उनके फैन्स उनकी अच्छी सेहत की कामना कर रहे हैं।

पहले भी खराब हुई तबीयत

इससे पहले भी दिलीप कुमार को तबीयत बिगड़ने के बाद कई बार अस्‍पताल में भर्ती कराना पड़ा था। उन्‍हें इसी साल एक बार अप्रैल में अस्‍पताल में भर्ती कराया गया था, जब उनकी तबीयत तेज बुखार और सीने में संक्रमण की वजह से बिगड़ी थी। अगस्‍त 2017 में उन्‍हें किडनी से जुड़ी तकलीफ होने के कारण 8 दिन तक अस्पताल में ही रहना पड़ा था। नवम्‍बर 2017 में भी उन्‍हें माइल्‍ड निमोनिया हो गया था। तब डॉक्‍टरों ने उन्‍हें घर पर ही आराम करने की सलाह दी थी।

‘ट्रेजेडी किंग’ के नाम से हैं मशहूर

दिलीप कुमार बॉलीवुड में ‘ट्रेजेडी किंग’ के नाम से मशहूर हैं। उन्‍होंने ‘मधुमती’, ‘देवदास’, ‘मुगल-ए-आजम’, ‘नया दौर’, ‘गंगा जमुना’, ‘देवदास’, ‘आजाद’, ‘राम और श्‍याम’, ‘कोहिनूर’, ‘लीडर’ जैसी सदाबहार फिल्‍में की हैं। दिलीप कुमार ने 9 फिल्म फेयर अवॉर्ड भी जीते हैं। उन्हें फिल्मफेयर बेस्ट एक्टर का पहला अवॉर्ड भी मिला, जो उन्हें फिल्म ‘दाग’ के लिए दिया गया था। 1997 में पाकिस्तान सरकार ने उन्हें ‘निशान-ए-इम्तियाज’ से सम्मानित किया। दिलीप साहब को वर्ष 2015 में पद्म विभूषण और 1994 में दादासाहेब फाल्के अवार्ड से सम्‍मानित किया गया।

Related Post

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *