डायबिटीज से बचा सकती है धार्मिक पुस्तक ‘गीता’, रिसर्च में किया गया दावा

73 0

हैदराबाद। यहां के ओस्मानिया जनरल हॉस्पिटल के डॉक्टरों के साथ मिलकर एक रिसर्च हुई है। इस रिसर्च को करने वालों ने डायबिटीज से बचने के लिए धार्मिक किताब ‘गीता’ से रिश्ता खोज निकाला है।

क्या कहते हैं रिसर्चर्स

रिसर्च करने वालों का कहना है कि श्रीमद्भग्वदगीता में भगवान कृष्ण और अर्जुन के बीच संवाद के बारे में जानकर डायबिटीज समेत तमाम गंभीर बीमारियों से बचने का रास्ता जान सकते हैं। बता दें कि भगवान कृष्ण की वाणी के तौर पर पहचानी जाने वाली गीता के श्लोकों में जीवन के हर पहलू से जुड़े सवालों का सटीक जवाब दिया गया है। गीता में सभी नकारात्मक हालात के बारे में बताया गया है और इसमें ये भी कहा गया है कि इन नकारात्मक हालात से पार किस तरह पाया जाए। रिसर्च करने वालों का कहना है कि डायबिटीज भी जीवन पद्धति से जुड़ी बीमारी है और जीवन पद्धति को बदलकर इस बीमारी से छुटकारा पाया जा सकता है।

कहां प्रकाशित हुई है रिसर्च

ये रिसर्च इंडियन जर्नल ऑफ एंड्रोक्रिनोलॉजी और मेटाबॉलिज्म में प्रकाशित हुई है। इस रिसर्च में देश के तमाम हॉस्पिटल और रिसर्च इंस्टीट्यूट के डॉक्टरों के अलावा ढाका मेडिकल कॉलेज और पाकिस्तान की आगा खान यूनिवर्सिटी हॉस्पिटल के डॉक्टरों ने भी हिस्सा लिया है।

गीता के श्लोकों से कैसे हो इलाज

रिसर्च करने वालों के मुताबिक गीता के 700 से ज्यादा श्लोकों का जिंदगी में काफी महत्व है। उनके मुताबिक जब किसी को जीवन पद्धति से जुड़ी डायबिटीज या कोई अन्य गंभीर बीमारी हो, तो उसे गीता पढ़ने और उसके श्लोकों का अर्थ समझने को कहना चाहिए। ताकि वो खुद की जीवन पद्धति को बदले और गंभीर बीमारियों से छुटकारा पा सके।

Related Post

क्या आमिर की फिल्म ‘महाभारत’ में कृष्ण की भूमिका में नजर आएंगे भाईजान?

Posted by - May 15, 2018 0
मुंबई। एक्टर आमिर खान अपनी ड्रीम प्रोजेक्ट फिल्म ‘महाभारत’ में कर्ण का रोल निभाने जा रहे है । वहीं, सलमान…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *