सोनौली बॉर्डर पर एसएसबी और सेना के जवान भिड़े, मारपीट के बाद घंटों अफरातफरी

81 0
  • शिवरतन कुमार गुप्ता राज़

महराजगंज। भारत-नेपाल के सोनौली बॉर्डर पर जांच के दौरान एसएसबी और सेना के गोरखा रेजीमेंट के जवान आपस में भिड़ गए। उनके बीच जमकर मारपीट भी हुई, जिसके कारण बॉर्डर पर घंटों अफरातफरी का माहौल रहा। बॉर्डर पर कुछ देर के लिए आवागमन भी ठप रहा।

कैसे हुआ विवाद ?

भारतीय सेना के गोरखा रेजिमेंट के करीब 20 जवान सोमवार (3 सितंबर) की रात करीब 8 बजे नेपाल स्थित अपने घरों से छुट्टी बिताने के बाद ड्यूटी पर वापस जाने के लिए सोनौली बॉर्डर पहुंचे थे। एसएसबी के जवानों ने उन्हें बॉर्डर पर रोक कर जांच कराने के लिए कहा। इस पर कुछ जवानों ने अपना परिचय दिया और बताया कि वे गोरखा रेजिमेंट के जवान हैं। उन्‍होंने अपना परिचय पत्र भी दिखाया। इसी दौरान जब कुछ जवानों ने जांच कराने और परिचय पत्र दिखाने से मना किया तो जांच कर रहे एसएसबी के जवानों से उनकी कहासुनी हो गई। नोक-झोंक के बाद मामला मारपीट में बदल गया।

एसएसबी ने गोरखा जवानों पर बरसाए डंडे

बताया गया है कि एसएसबी के जवानों ने बल का प्रयोग करते हुए सेना के जवानों पर डंडे बरसाए। डंडा लगने से करन बहादुर नामक एक जवान चोटिल हो गया। बॉर्डर पर मारपीट से दोनों देशों में आवागमन ठप हो गया और सरहद पर हड़कंप मच गया। गोरखा रेजिमेंट के कुछ जवान भागकर नेपाली सीमा में स्थित पुलिस चौकी में पहुंचे और घटना की जानकारी इंस्पेक्टर बेलहिया को दी। इस पर प्रभारी निरीक्षक वीर बहादुर थापा मौके पर पहुंचे और उन्‍होंने एसएसबी जवानों से वार्ता कर मामला सुलझाया। इसके बाद जाकर बॉर्डर पर स्थिति सामान्य हुई। गोरखा जवानों को समझा-बुझाकर भारत भेज दिया गया है।

Related Post

ओवैसी ने उठाई मांग – भारतीय मुस्लिमों को ‘पाकिस्तानी’ कहने वालों को हो तीन साल जेल

Posted by - February 7, 2018 0
राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव के समय लोकसभा में बहस के दौरान रखी मांग नई दिल्‍ली। ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *