तमिलनाडु में हिंदू नेताओं की हत्या की साजिश रचने वाले 5 संदिग्ध आतंकी गिरफ्तार

215 0

कोयंबटूर। तमिलनाडु पुलिस ने इस्लामिक स्टेट ऑफ जम्मू-कश्मीर (ISJK) के पांच संदिग्ध आतंकियों को कोयंबटूर से गिरफ्तार किया है। पुलिस का दावा है कि वे कोयंबटूर में हिंदू संगठनों के नेताओं की हत्या करने आए थे। अपनी साजिश को अंजाम तक पहुंचाने के लिए 4 संदिग्ध शनिवार को चेन्नई से कोयंबटूर पहुंचे थे। यहां उनका एक सहयोगी उन्हें रिसीव करने स्टेशन आया था।

खुफिया सूचना पर हुई गिरफ्तारी

बताया जा रहा है कि खुफिया एजेंसियां कुछ दिनों से इस गैंग पर नजर रख रही थीं। एक गुप्त सूचना के आधार पर पुलिस की विशेष जांच इकाई (SIU) ने कोयंबटूर पहुंचे चारों लोगों को गिरफ्तार किया। पुलिस ने बताया कि इन्हें स्‍टेशन पर लेने आए एक अन्‍य व्‍यक्ति को भी पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है। इनके पास धारदार हथियार मिले हैं। पुलिस पूछताछ में जुर्म कबूलने के बाद अदालत ने सोमवार (3 सितंबर) को उन्हें जेल भेज दिया।  एक पुलिस अफसर ने बताया कि आरोपी तमिलनाडु के अलग-अलग शहरों से हैं। पुलिस यह पता लगाने में जुटी है गिरफ्तार आरोपियों के तार किस संगठन से जुड़े हैं।

बिगाड़ना चाहते थे सांप्रदायिक माहौल

पुलिस पूछताछ में खुलासा हुआ है कि गिरफ्तार किए गए सभी लोगों ने इंडू मक्कल काचि (IMK) के संस्‍थापक अर्जुन संपत, उनके बेटे ओंकार बालाजी और हिंदू मुन्नानी के नेता मूकम्बिगाई मणि की हत्‍या करने की साजिश रची थी। पुलिस ने इन नेताओं की सुरक्षा बढ़ा दी है। गिरफ्तार सभी लोगों पर अवैध गतिविधि रोकथाम अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है। पुलिस का कहना है कि ये लोग 13 सितंबर को गणेश चतुर्थी के दौरान यहां का सांप्रदायिक सद्भाव भड़काना और अस्थिरता पैदा करना चाहते थे। हालांकि इस मामले में पुलिस अभी कुछ ज्‍यादा जानकारी नहीं दे रही है।

Related Post

कोरियाई आकाश में फिर गरजे अमेरिकी बमवर्षक, उत्‍तर कोरिया बौखलाया

Posted by - November 3, 2017 0
सियोल,  राष्ट्रपति ट्रंप का एशिया दौरा शुरू होने से पहले परमाणु बम हमले में सक्षम दो अमेरिकी अत्याधुनिक बी 1-बी…

भड़काऊ भाषण प्रकरण : सुप्रीम कोर्ट ने पूछा, क्यों न चले योगी आदित्यनाथ पर मुकदमा ?

Posted by - August 20, 2018 0
सर्वोच्‍च अदालत ने उत्‍तर प्रदेश सरकार को जारी किया नोटिस, चार हफ्ते में मांगा जवाब नई दिल्ली। 11 साल पुराने भड़काऊ…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *