जल्दी ही मिलेगी कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों से मुक्ति, हर एक जीयेगा लंबी उम्र

51 0

लंदन। जल्दी ही ऐसा वक्त आने वाला है, जब इंसान जल्द बूढ़ा नहीं होगा। हर इंसान लंबी उम्र जीयेगा और जब तक जीयेगा, गंभीर बीमारियां भी उसे नहीं होंगी। ये उम्मीद बंधी है एक नई रिसर्च से। जो आने वाले 10 साल में हकीकत में बदल सकती है।

पैदा होने से पहले ही गड़बड़ियां कर दी जाएंगी दूर

इंसान को जल्द बूढ़ा होने से बचाने, उसके शरीर को गंभीर बीमारियों से बचाने और लंबी उम्र देने की इस नई तकनीक का नाम है CRISPR टेक्नोलॉजी। इस तकनीकी में पैदा होने से पहले ही भ्रूण से उन जीन्स को हटा दिया जाता है, जो जल्दी बूढ़ा बनाते हैं या गंभीर बीमारियों की वजह बनते हैं। इस तकनीक को सरल भाषा में जीन एडिटिंग करते हैं। बता दें कि हमारे शरीर की बनावट, हमारी आंखों का रंग, बाल का रंग, त्वचा और तमाम बीमारियों की वजह जीन ही होते हैं। मसलन अगर किसी को शुगर की बीमारी हो, तो आने वाली पीढ़ी में किसी को ये बीमारी होने की आशंका होती है। ठीक ऐसा ही कैंसर के साथ भी है और किडनी और लिवर की बीमारियां भी आनुवांशिक हो सकती हैं। जीन एडिटिंग ऐसी ही गंभीर बीमारियों वाली जीन्स को भ्रूण बनने से पहले ही हटाने की तकनीकी है।

नई तकनीकी को लेकर चिंता भी कम नहीं

रिसर्च करने वाले इसे इंसानों के लिए शानदार बता रहे हैं, लेकिन तमाम अन्य वैज्ञानिकों ने जीन एडिटिंग को लेकर चिंता भी जताई है। कई वैज्ञानिकों का कहना है कि भले ही किसी इंसान को एक गंभीर बीमारी से बचा लिया जाए, लेकिन हो सकता है कि जीन एडिटिंग की वजह से दूसरी कोई गंभीर बीमारी उसे हो जाए। इसके अलावा जीन एडिटिंग की वजह से लोग अपने बच्चों की आंखों, बाल और त्वचा का रंग तय कर सकेंगे। ऐसे में वैज्ञानिकों का कहना है कि इससे भी समाज पर बड़ा असर पड़ सकता है। इसके अलावा ये भी चिंता जताई जा रही है कि इस तकनीक का फायदा अमीर लोग ही उठाएंगे और गरीबों के लिए ये हमेशा महंगी रहेगी। साथ ही जब लंबे समय तक इंसान जीयेगा, तो पारिस्थितिकी पर इसका गहरा असर भी पड़ेगा और एक विकट समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

Related Post

नीतीश कुमार को 7 जन्मों में भी माफ नहीं करेंगे लालू यादव, बताया- सबसे बड़ा ‘डरपोक’

Posted by - October 16, 2017 0
पटना: राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव अगले सात जन्मों में भी बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को माफ नहीं करेंगे. लालू ने सोमवार…

जानिए, आखिर क्यों अंबेडकर के नाम के साथ जुड़ेगा ‘राम’ का नाम ?

Posted by - March 29, 2018 0
लखनऊ। यूपी में अब डॉ. भीमराव अंबेडकर के नाम के साथ ‘रामजी’ नाम जोड़कर लिखा जाएगा। अंग्रेजी में तो अंबेडकर का नाम…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *