खुशखबरी : JEE और NEET के छात्रों को सरकार देगी अगले साल से मुफ्त कोचिंग

44 0

नई दिल्ली। प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए एक राहत भरी खबर आई है। ऐसे छात्रों को अब कोचिंग के लिए भारी-भरकम फीस की चिंता करने की जरूरत नहीं पड़ेगी। दरअसल अब सरकार वर्ष 2019 से ऐसे छात्रों को फ्री कोचिंग उपलब्ध कराएगी।  यह संभव होगा नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) की वजह से, जिसका गठन सरकार ने उच्च शिक्षण संस्थानों में प्रवेश के लिए होने वाली प्रतियोगी परीक्षाएं कंडक्‍ट कराने के लिए किया है।

प्रैक्टिस सेंटरों को टीचिंग सेंटर में करेंगे तब्‍दील

मानव संसाधन विकास मंत्रालय से जुड़े अधिकारियों के मुताबिक, छात्रों को मुफ्त सरकारी कोचिंग देने के लिए NTA अपने 2,697 प्रैक्टिस सेंटरों को अगले साल से टीचिंग सेंटरों में तब्दील करेगी। ये प्रैक्टिस सेंटर 8 सितंबर से काम करना शुरू कर देंगे। इन सेंटर्स में छात्रों से कोई फीस नहीं ली जाएगी। इनका मकसद जरूरतमंद छात्रों को फ्री एजुकेशन मुहैया कराना होगा। बता दें कि सरकार के इस कदम से प्राइवेट कोचिंग सेंटर्स को बड़ा झटका लग सकता है। ये प्राइवेट कोचिंग सेंटर्स अभी छात्रों से भारी-भरकम फीस वसूलकर उन्हें प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारियां करा रहे थे।

1 सितंबर से होगा ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

इन टीचिंग सेंटर्स में प्रवेश के लिए छात्रों को ऑनलाइन रजिस्‍ट्रेशन कराना अनिवार्य होगा। बिना रजिस्‍ट्रेशन कराए छात्र इसमें प्रवेश नहीं ले सकेंगे। NTA इसके लिए 1 सितंबर को मोबाइल ऐप और वेबसाइट लॉन्च करेगी। उसी दिन से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के लिए प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। ये रजिस्ट्रेशन 30 सितंबर तक चलेंगे। इन टीचिंग सेंटरों में पढ़ाई मई, 2019 से शुरू होगी। इसका फायदा खासकर शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों के ऐसे प्रतिभाशाली छात्रों को होगा, जो आर्थिक परेशानियों की वजह से कोचिंग नहीं ले पाते थे।

पहली बार सिर्फ JEE-Main के छात्रों को मौका

एचआरडी मिनिस्ट्री के अधिकारी के मुताबिक, ‘टीचिंग सेंटर पहली बार छात्रों को सिर्फ JEE-Main 2019 के लिए मॉक परीक्षा देने का मौका देंगे। चूंकि नीट-यूजी (NEET-UG) फिलहाल कंप्यूटर आधारित परीक्षा नहीं है, इसलिए इसके लिए कोई मॉक परीक्षा नहीं होगी। मॉक परीक्षा देने वाले छात्र अपने रिजल्ट को NTA के टीचर्स के साथ डिस्कस कर सकते हैं, ताकि उन्हें अपनी गलतियों को पता चल सके। टीचर छात्रों को उनकी गलतियां समझने और उन्हें सुधारने में मदद करेंगे।

Related Post

सामाजिक बुराइयों के खिलाफ लड़ रहा महिलाओं का ‘ग्रीन गैंग’

Posted by - April 12, 2018 0
मिर्जापुर में गैंग की महिलाएं गांव-गांव जाकर नशा करने वालों के खिलाफ चलाती हैं मुहिम महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने और स्वच्छता…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *