Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

शिवपाल ने बनाया समाजवादी सेकुलर मोर्चा, बोले – मुलायम को भी साथ लाएंगे

206 0

लखनऊ। पिछले काफी समय से समाजवादी पार्टी में हाशिए पर कर दिए गए शिवपाल यादव ने आखिरकार नई पार्टी का ऐलान कर ही दिया। उन्‍होंने बुधवार (29 अगस्‍त) को समाजवादी सेक्युलर मोर्चा बनाने का ऐलान किया। शिवपाल ने इस मौके पर कहा कि समाजवादी पार्टी में जो लोग उपेक्षित हैं और उन्हें काम करने का मौका नहीं मिल रहा है, ऐसे सभी लोगों को वो साथ लाएंगे।

क्‍यों बनाई नई पार्टी ?

शिवपाल ने नई पार्टी की घोषणा के बाद कहा, ‘सपा में मुझे काम करने की जिम्मेदारी (पद) नहीं दी जा रही है और न ही कोई मौका दिया जा रहा है। ऐसे में मेरे पास कोई रास्ता नहीं बचा था। इसी के मद्देनजर समाजवादी सेक्युलर मोर्चा बनाने का फैसला किया है।’ शिवपाल ने कहा कि वह समाजवादी पार्टी से उपेक्षित लोगों को इस मोर्चे से जोड़ने का काम करेंगे।

मुलायम को भी मोर्चे से जोड़ने का दावा

शिवपाल यादव ने इस मौके पर दावा किया कि समाजवादी पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष  मुलायम सिंह यादव भी वे समाजवादी सेक्युलर मोर्चे से जुड़ेंगे। शिवपाल ने कहा कि वह नेताजी को सम्मान न दिए जाने से आहत हैं। उन्‍होंने सेक्युलर मोर्चे के सहारे छोटे दलों को जोड़ने की बात कही।

अखिलेश बोले, इसमें कुछ नया नहीं

शिवपाल के इस फैसले पर जब सपा अध्‍यक्ष अखिलेश यादव से सवाल किया गया तो पहले तो उन्‍होंने इस सवाल को टाल दिया। हालांकि,  बाद में उन्होंने इतना जरूर कहा कि इसमें कुछ नया नहीं है और जैसे-जैसे केंद्र व राज्य के चुनाव नजदीक आएंगे, ऐसी चीजें देखने को मिलेंगी। उन्होंने अमर सिंह की प्रेस कॉन्फ्रेंस का जिक्र किए बिना कहा कि जो हुआ वो यही इशारा कर रहा है।

पिछले साल आई थी रिश्‍ते में खटास

दरअसल, अखिलेश यादव और शिवपाल के बीच रिश्ते में खटास  2017 में यूपी विधानसभा चुनाव के पहले आई थी। जब अखिलेश ने अपने चाचा शिवपाल को मंत्रिमंडल से बाहर कर दिया था तो इसके बाद मुलायम कुनबे की लड़ाई सड़क पर आ गई थी। हालांकि मुलायम सिंह यादव ने कई बार परिवार में सुलह कराने की कोशिश की, लेकिन वे कामयाब नहीं हुए। बता दें कि पिछले दिनों यह भी खबर आई थी कि शिवपाल बीजेपी का दामन थाम सकते हैं।

Related Post

आईएएस की बेटी से छेड़छाड़ मामले में विकास और उसके दोस्त को जमानत

Posted by - January 12, 2018 0
पांच महीने बाद जेल से रिहा होगा हरियाणा बीजेपी के अध्यक्ष सुभाष बराला का बेटा विकास बराला चंडीगढ़। चंडीगढ़ के चर्चित…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *