DATA: रिसर्च पर सबसे ज्यादा खर्च करता है ये देश, अमेरिका काफी पीछे

264 0

नई दिल्ली। किसी देश के विकास में वहां होने वाली रिसर्च का बड़ा रोल होता है। रिसर्च के जरिए लोगों की जिंदगी को बेहतर बनाने वाली चीजों का आविष्कार भी किया जाता है और उन तमाम गड़बड़ियों को भी जाना जा सकता है, जिनकी वजह से तरक्की की राह में दिक्कतें बढ़ती हैं, लेकिन दुनिया में कम ही देश हैं, जो रिसर्च पर ज्यादा जोर देते हैं। हालांकि, ऐसे मुल्कों की तादाद भी कम नहीं, जो हर साल अपने बजट का एक बड़ा हिस्सा रिसर्च पर खर्च करते हैं। क्या आपको पता है कि आखिर रिसर्च के मामले में सबसे ज्यादा खर्च करने वाला देश कौन सा है ? चलिए हम आपको बताते हैं कि किन देशों में कितना धन रिसर्च पर ही खर्च होता है।

रिसर्च में अमेरिका से काफी आगे है दक्षिण कोरिया
संयुक्त राष्ट्र की एजेंसी यूनेस्को के आंकड़ों के मुताबिक दुनियाभर में रिसर्च पर सबसे ज्यादा खर्च दक्षिण कोरिया करता है। वो इस मामले में दुनिया के सबसे ताकतवर देश कहे जाने वाले अमेरिका से कहीं आगे है। बाकी देश रिसर्च के मामले में कहां ठहरते हैं, वो हम आपको बताने जा रहे हैं।

रिसर्च पर इतना खर्च करते हैं देश
दक्षिण कोरिया- जीडीपी का 4.3 फीसदी
इजरायल- जीडीपी का 4.2 फीसदी
जापान- जीडीपी का 3.4 फीसदी
फिनलैंड- जीडीपी का 3.2 फीसदी
स्विटजरलैंड- जीडीपी का 3.2 फीसदी
स्वीडन- जीडीपी का 3.1 फीसदी
ऑस्ट्रिया- जीडीपी का 3.1 फीसदी
डेनमार्क- जीडीपी का 2.9 फीसदी
जर्मनी- जीडीपी का 2.9 फीसदी
अमेरिका- जीडीपी का 2.7 फीसदी

प्रति 10 लाख लोगों पर औसतन इतने रिसर्चर
दक्षिण कोरिया- 6 हजार 856
इजरायल- 8 हजार 250
जापान- 5 हजार 328
फिनलैंड- 7 हजार 11
स्विटजरलैंड- 4 हजार 455
स्वीडन- 6 हजार 877
ऑस्ट्रिया- 4 हजार 937
डेनमार्क- 7 हजार 311
जर्मनी- 4 हजार 318
अमेरिका- 4 हजार 255

Related Post

ट्रेनों के एसी कोच से सालभर में यात्रियों ने गायब किए 14 करोड़ के चादर, कंबल व टॉवेल !

Posted by - November 16, 2018 0
नई दिल्‍ली। ऐसा नहीं है कि जरूरतमंद लोग ही चोरी करते हैं। ऐसा करने वालों में काफी पढ़े-लिखे और सम्‍पन्‍न…

गाजियाबाद में बारातियों से भरी सूमो नाले में गिरी, दूल्हे के पिता समेत 7 मरे

Posted by - April 21, 2018 0
गाजियाबाद। दिल्ली से सटे यूपी के गाजियाबाद में बारातियों से भरी टाटा सूमो नियंत्रण से बाहर होकर एक नाले में…

दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने इस तरह दिखाई बच्चों को स्वस्थ बनाने की राह

Posted by - November 24, 2018 0
नई दिल्ली। आमतौर पर निजी स्कूलों को सरकारी स्कूलों से बेहतर माना जाता है। माना जाता है कि निजी स्कूलों…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *