गौरक्षकों से डरकर गायों को खुला छोड़ रहे हैं लोग, ट्रेन से कटकर रही हैं मर !

27 0

नई दिल्ली। ट्रेनों से कटकर गायों के मरने का आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है। जानकार इसे गौरक्षकों से जोड़कर देख रहे हैं। उनका मानना है कि गौरक्षा के नाम पर हो रही हत्याओं की वजह से लोग डरकर अपनी गायों को खुले में छोड़ रहे हैं और इस वजह से गायें ट्रेन से कट रही हैं।

इतनी गायें ट्रेन से रही हैं कट
-आंकड़ों के मुताबिक 2015-16 में 2183 गायें ट्रेन से कटकर मरी थीं।
-2017-18 में ट्रेन से कटकर मरने वाली गायों की संख्या 10 हजार 105 थी।
-2018 में अप्रैल से अगस्त के बीच 6 हजार 900 गायें ट्रेन से कटकर मारी जा चुकी हैं।
-ट्रेन से कटकर मरने वाली गायों की संख्या का 70 फीसदी उत्तर भारत में है।

गौरक्षा के नाम पर अब तक हुई हत्याएं
-राजस्थान के अलवर जिले में बीते दिनों रकबर उर्फ अकबर खान की कुछ लोगों ने गौ तस्करी के शक में पीटकर हत्या कर दी थी।
-19 जून 2018 को यूपी के हापुड़ में गोकशी के शक में एक शख्स की हत्या हुई।
-13 जून 2018 को पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी के धुपगुड़ी कस्बे में मवेशी तस्करी के शक में दो युवकों को पीट-पीटकर मौत के घाट उतारा गया।
-30 अप्रैल 2017 को असम के नौगांव में भीड़ ने पशु तस्करी के शक में दो लोगों की हत्या कर दी।
-1 अप्रैल 2017 को जयपुर से गायें खरीदकर हरियाणा के नूंह ले जा रहे पहलू खान और उसके साथियों पर हमला। पहलू की इलाज के दौरान 3 अप्रैल को मौत हुई।
-19 अक्टूबर 2015 को हिमाचल के सिरमौर में एक शख्स को गाय तस्करी का आरोप लगाकर पीट-पीटकर मार दिया गया।

Related Post

वनटांगिया बस्ती के लोग बोले – सीएम नहीं आए तो नहीं मनाएंगे दिवाली

Posted by - October 4, 2017 0
2007 से ही कुसम्‍ही में वनटांगिया मजदूरों के बीच सांसद के रूप में जाते रहे हैं योगी आदित्‍यनाथ गोरखपुर। कुसम्ही…

बोइंग, HAL और महिंद्रा डिफेंस मिलकर भारत में बनाएंगे सुपर हॉर्नेट फाइटर प्लेन

Posted by - April 12, 2018 0
मेक इन इंडिया के तहत होगा इन लड़ाकू विमानों का निर्माण, तीनों कंपनियों ने किया समझौता चेन्‍नै। दुनिया के ताकतवर लड़ाकू…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *