Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

एशियन गेम्स 2018 : मंजीत सिंह ने भारत की झोली में डाला नौवां स्वर्ण, सिंधू गोल्ड से चूकीं

199 0

जकार्ता। 18वें एशियाई खेलों के 10वें दिन मंगलवार (28 अगस्‍त) को भारत के मंजीत सिंह ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए पुरुषों की 800 मीटर स्पर्धा में स्वर्ण पदक अपने नाम किया। वहीं भारत के ही जिनसन जॉनसन ने इस स्पर्धा में रजत पदक पर कब्जा जमाया। हालांकि भारतीय शटलर पीवी सिंधू को सिल्‍वर मेडल से ही संतोष करना पड़ा। अब भारत के 9 गोल्ड, 19 सिल्वर और 22 ब्रॉन्ज मेडल के साथ कुल 50 पदक हो गए हैं और वह पदक तालिका में 8वें स्थान पर पहुंच गया है।

मंजीत सिंह ने सबको चौंकाया

मंजीत सिंह ने सबको चौंकाते हुए स्वर्ण पदक अपने नाम किया। मंजीत चौथे स्थान पर चल रहे थे और जिनसन जॉनसन तीसरे स्थान पर, लेकिन आखिरी 50 मीटर में मंजीत ने अपनी गति बढ़ाई और जॉनसन से आगे निकलते हुए बाजी मार ली। मंजीत ने 1:46.15 सेकेंड का समय लिया, जबकि जॉनसन ने 1:46.35 सेकेंड का समय लेकर रजत पदक अपने नाम किया। जॉनसन को कतर के अबदुल्ला से कड़ी चुनौती मिली, लेकिन फिनिशिंग लाइन पर दो सेकेंड के अंतर से जिनसन का पैर पहले पड़ा।

महिला बैडमिंटन सिंगल्स फाइनल में भारत की स्टार शटलर पीवी सिंधु को सिल्वर मेडल मिला

सिंधू को सिल्‍वर से करना पड़ा संतोष

18वें एशियाई खेलों में महिला बैडमिंटन के सिंगल्स इवेंट में भारत की स्टार शटलर पीवी सिंधु को सिल्वर मेडल मिला। उन्हें दुनिया की नंबर एक चीनी ताइपे खिलाड़ी ताई जू यिंग के हाथों सीधे सेटों में 13-21, 16-21 से हार का सामना करना पड़ा। सिंधु को भले ही फाइनल में हार मिली, लेकिन वो एशियाड में सिल्वर मेडल जीतने वाली पहली भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी बन गई हैं।

4 गुणा 400 मिश्रित रिले में भारत को रजत

भारत ने चार गुणा 400 मीटर मिश्रित रिले टीम स्पर्धा में रजत पदक अपने नाम किया है। भारत के मोहम्मद अनस, पूवम्मा राजू, हिमा दास और राजीव अरोकिया की टीम ने 3:15.71 का समय निकालते हुए रजत पदक पर कब्जा जमाया। इस स्पर्धा का गोल्‍ड बहरीन के नाम रहा, जिसने 3:11:89  का समय निकाला। वहीं, कजाखस्तान की टीम 3:19.52 सेकेंड का समय निकाल कर तीसरे स्थान पर रही। बता दें कि इस स्पर्धा को पहली बार एशियाई खेलों में शामिल किया गया है।

भारतीय महिला तीरंदाजों की टीम ने कंपाउंड स्पर्धा में पहली बार सिल्वर मेडल जीता

पहली बार कंपाउंड आर्चरी टीम को सिल्वर

भारतीय महिला तीरंदाजों ने कंपाउंड स्पर्धा में पहली बार सिल्वर मेडल जीता। मुस्कान किरार, मधुमिता कुमारी और ज्योति सुरेखा वेन्नम की तीरंदाजी की कंपाउंड टीम को फाइनल मुकाबले में  दक्षिण कोरिया से हार मिली। इस स्पर्धा  में दक्षिण कोरिया ने भारत को 231-228 से मात दी और गोल्‍ड जीता। इससे पहले, 2014 में हुए इंचियोन एशियाई खेलों में भारतीय टीम ने महिला कंपाउंड टीम स्पर्धा का कांस्य पदक हासिल किया था।

टेबल टेनिस में पहली बार पदक

भारतीय पुरुष टेबल टेनिस टीम को सेमीफाइनल में दक्षिण कोरिया से हारकर कांस्य पदक से ही संतोष करना पड़ा। हालांकि यह कांस्य पदक ऐतिहासिक है, क्योंकि  भारत कभी टेबल टेनिस में पदक नहीं जीत पाया था। लंबे समय तक चीन, जापान और दक्षिण कोरिया का ही इस खेल में दबदबा रहा। वहीं कुराश में पिंकी बलहारा ने सिल्वर मेडल जीता और मलाप्रभा को ब्रॉन्ज मेडल हासिल हुआ।

Related Post

ब्लड प्रेशर और तनाव से बचना है, तो दांतों को रखिए साफ और मसूड़ों को स्वस्थ

Posted by - October 23, 2018 0
रोम। इटली की ला-एकीला यूनिवर्सिटी के रिसर्चर्स के मुताबिक ब्लड प्रेशर और तनाव का दांतों की सफाई से सीधा रिश्ता…

टीबी की बीमारी को मिटाना है, तो केरल के इडुक्की से सीखिए तरीका

Posted by - October 9, 2018 0
इडुक्की (केरल)। साल 2006 में ट्यूबरकुलोसिस जैसी गंभीर बीमारी से केरल का इडुक्की जिला जूझ रह था। अपने पर्यटन स्थलों…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *