राहुल का पीएम मोदी पर करारा हमला, बोले – ‘देश में नोटबंदी के कारण हो रहीं लिंचिंग की घटनाएं’

112 0

हैम्‍बर्ग। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने जर्मनी में बुधवार (22 अगस्‍त) को केंद्र सरकार पर जोरदार हमला बोला और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर आरोपों की बौछार कर दी। उन्‍होंने कहा कि भारत में नोटबंदी, जीएसटी और बेरोजगारी के कारण लिंचिंग जैसी घटनाएं हो रही हैं।

क्‍या बोले कांग्रेस अध्‍यक्ष ?

जर्मनी के हैम्बर्ग में स्थित बुसेरियर समर स्कूल में छात्रों को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा, ‘मोदी सरकार ने नोटबंदी और जीएसटी के जरिए भारतीय अर्थव्यवस्था को तबाह कर दिया। मोदी सरकार ने ग़लत तरीके से नोटबंदी और जीएसटी लागू की, जिससे उद्योग-धंधे बर्बाद हो गए और बेरोजगारी बढ़ी। बड़ी संख्या में छोटे व्यवसायों में काम करने वाले लोगों को अपने गांव वापस लौटना पड़ा। इससे लोगों के अंदर गुस्‍सा पनपा और मॉब लिंचिंग की घटनाएं होने लगी हैं।’ राहुल के इस दौरे का मकसद वहां रह रहे छात्रों और भारतीय समुदाय के लोगों के साथ संवाद करना है। बता दें कि राहुल गांधी भी बुसेरियस समर स्कूल के छात्र रह चुके हैं।

दूसरों को भी सुनना जरूरी

कांग्रेस अध्‍यक्ष ने समाज में मेलजोल की जरूरत पर बल देते हुए कहा, ‘आप किसी से असहमत हो सकते हैं, लेकिन एक-दूसरे से जुड़ी हुई दुनिया में आपको वह सुनना पड़ेगा, जो दूसरे कह रहे हैं। दुनिया में नफरत एक खतरनाक चीज है। आज दुनिया में नफरत बहुत है, लेकिन दूसरों की बात सुनने वाले बहुत कम हैं।’ उन्होंने कहा कि सुनने की ताकत बहुत बड़ी है।

‘रोजगार दे पाएं तो जनसंख्‍या कोई समस्‍या नहीं’

जब एक छात्र ने कांग्रेस अध्‍यक्ष से पूछा कि भारत में जनसंख्या कितनी बड़ी समस्या है, तो इस सवाल के जवाब में राहुल ने कहा, ‘अगर आप लोगों को रोजगार दे पाते हैं तो जनसंख्या कोई समस्या नहीं रह जाती है।’ राहुल ने आरोप लगाया कि भाजपा की सरकार में ग़रीबों और दलितों पर अत्याचार बढ़े हैं। उन्होंने कहा, ‘विश्व में कहीं भी लोगों को विकास की प्रक्रिया से दूर रखा जाता है तो आईएस (इस्लामिक स्टेट) जैसे विद्रोही समूहों को ही बढ़ावा मिलता है।’

बताया, क्‍यों लगे थे पीएम मोदी के गले

इस कार्यक्रम में राहुल गांधी से पूछा गया कि आप संसद में पीएम मोदी के गले क्यों लगे? इस पर उन्होंने कहा, ‘अगर आप से कोई नफरत करता है तो आप उसका जवाब नफरत से मत दीजिए। प्रधानमंत्री मोदी ने मुझे लेकर कई बार हेट स्पीच दी है। मैं उन्हें बताना चाहता था कि दुनिया इतनी भी बुरी नहीं है और मैं उनके गले लग गया। ये चीज महात्मा गांधी ने हमें सिखाई है।’

‘हिंसा से निकलने का तरीका है माफ करना’

राहुल गांधी ने कहा, ‘मैंने हिंसा को झेला है और मैं आपको बता सकता हूं कि इससे निकलने का एकमात्र तरीका है – माफ करना। और माफ करने के लिए आपको यह समझना होगा कि ये कहां से आ रही है ?’ उन्होंने कहा, ‘1991 में मेरे पिता को आतंकवादी ने मार डाला था। जब कुछ साल बाद उस आतंकवादी की मृत्यु हो गई तो मैं खुश नहीं हुआ। मैंने खुद को उसके बच्चों में देखा।’

बताया, चीन से कैसे करें प्रतिस्‍पर्धा

एक सवाल के जवाब में राहुल गांधी ने कहा, ‘अगर चीन से प्रतिस्पर्धा करनी है तो भारत को छोटे और मध्यम बिजनेस को प्रोत्साहित करना होगा। चीन और भारत के बीच कोई होड़ नहीं है। हो सकता है कि चीन भारत की तुलना में तेज़ी से बढ़ रहा हो, लेकिन यह मायने नहीं रखता है। वहीं, भारत में लोग जो चाहते हैं वो व्यक्त कर सकते हैं और यही मायने रखता है।’

 

Related Post

जस्टिस केएम जोसेफ मामले पर सुप्रीम कोर्ट कोलेजियम आज फिर करेगा बैठक

Posted by - May 11, 2018 0
नई दिल्‍ली। जस्टिस केएम जोसेफ को सुप्रीम कोर्ट का जज नियुक्त करने के मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट कोलेजियम की शुक्रवार…

आईएनएक्स मीडिया केस : सीबीआई रिमांड पर कार्ति चिदंबरम, हो रही पूछताछ

Posted by - March 1, 2018 0
कार्ति को फिर अदालत में पेश कर उनकी रेग्युलर कस्टडी की मांग करेगी सीबीआई नई दिल्‍ली। आईएनएक्स मीडिया मनी लॉन्ड्रिंग…

सड़क हादसे में मृतक की ‘भविष्य की संभावनाओं’ के आधार पर मिलेगा मुआवजा

Posted by - November 1, 2017 0
सुप्रीम कोर्ट की पांच सदस्‍यीय संविधान पीठ ने सुनाया अहम फैसला मृतक की नौकरी या व्‍यवसाय से होने वाली आय को…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *