आमदनी बढ़ाने को फुटबॉल क्लब ने 18 खिलाडि़यों को बेचकर खरीदीं 10 बकरियां

138 0
  • तुर्की के फुटबॉल क्लब ने घाटा पूरा करने और बाकी खिलाड़ियों का खर्च उठाने के लिए उठाया अनोखा कदम

अंकारा। तुर्की के एक फुटबॉल क्‍लब ने घाटा पूरा करने और आमदनी बढ़ाने के लिए ऐसा अनोखा कदम उठाया है, जिसे जानने के बाद आप हैरान रह जाएंगे। दरअसल, यहां के गल्सपोर फुटबॉल क्लब ने अपने 18 खिलाड़ी दूसरे क्लब को बेचकर 10 बकरियां खरीदी हैं। क्लब मैनेजमेंट का मानना है कि इससे उन्हें अतिरिक्त आमदनी होगी, जिससे क्लब की जरूरतें पूरी होंगी और बाकी खिलाड़ियों का खर्च भी उठाया जा सकेगा।

क्‍यों उठाया यह कदम ?

गल्सपोर फुटबॉल क्लब के अध्यक्ष केनन बायूक्लेब्लेब ने बताया कि उनका क्लब पिछले काफी समय से फंड की कमी से जूझ रहा है। सरकार की तरफ से भी उन्हें कोई मदद नहीं मिल रही। यही नहीं, क्‍लब को किसी लीग में खेलने के लिए स्पॉन्सरशिप भी नहीं मिल रही। ऐसे में पैसे की कमी से जूझ रहे क्‍लब ने बकरियां खरीदने का फैसला किया।

खिलाड़ियों के बदले मिले करीब 2 लाख रुपये

बायूक्लेब्लेब ने बताया कि 18 खिलाड़ियों को बेचने के बाद उनके क्लब को 18 हजार लीरा (1.81 लाख रुपए) की कमाई हुई। इस पैसे से क्‍लब ने 10 बकरियां खरीदी हैं। उम्मीद है कि बकरियों का दूध बेचकर क्लब को हर महीने पांच हजार लीरा (60 हजार रुपए) की कमाई होगी। इससे क्लब का घाटा खत्म करने में मदद मिलेगी। क्‍लब के अध्‍यक्ष ने कहा कि उनके क्लब को इस वक्त पैसे की बहुत जरूरत है। क्लब पर कर्ज भी काफी चढ़ चुका है। कोई कॉरपोरेट ग्रुप भी मदद के लिए आगे नहीं आ रहा। ऐसे में यह रकम उनके लिए बहुत उपयोगी होगी।

6 साल में 140 बकरियां खरीदेगा क्लब

बायूक्लेब्लेब का कहना है कि अगर यह योजना कामयाब रही तो क्लब और बकरियां खरीदने पर विचार करेगा। इसके तहत अगले छह साल में 140 बकरियां खरीदने की योजना है। बता दें कि गल्सपोर तुर्की के सबसे पुराने फुटबॉल क्लब में से एक है। इसकी स्थापना 1954 में हुई थी। यह स्पार्टा शहर से ताल्लुक रखता है।

Related Post

मथुरा में अतिक्रमण हटाने पहुंचे हेड कांस्टेबल को जिंदा फूंकने का प्रयास

Posted by - May 3, 2018 0
मथुरा। जिले के वृंदावन थानाक्षेत्र के एक गांव में अवैध अतिक्रमण की शिकायत मिलने के बाद बुधवार को पहुंची पुलिस…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *