‘सेक्रेड गेम्स’ की एक्टर बदल रही हैं गरीबों की सोच, लोगों की समस्याएं कर रही हैं दूर

210 0

नई दिल्ली। ‘सेक्रेड गेम्स’ में न्यूड सीन दे चुकीं राजश्री देशपांडे दूसरी एक्ट्रेस से काफी अलग हैं। अपनी एक्टिंग से लोगों को अपना दीवाना बना चुकीं राजश्री अब मराठवाड़ा गांव में लोगों की दिक्कतों को दूर कर रही हैं।

अपने NGO के जरिए लोगों की कर रहीं मदद

राजश्री के NGO का नाम ‘नाबांगन फाउंडेशन’है। राजश्री देशपांडे का कहना है, ‘मैं सोशल सेक्टर में पिछले 5-6 सालों से काम कर रही हूं। मैं पहले पुणे में एक एडवरटाइजिंग एजेंसी में काम करती थी। फिर मैंने एक्टिंग के लिए जॉब छोड़ दी। इसके बाद मैं मुंबई शिफ्ट हो गई। यहां शिफ्ट होने के बाद मेरे पास काफी वक्त था। तब मैंने नेपाल में भूकंप के बाद राहत कार्यों में हाथ बंटाया। इसके बाद मैं कई सोशल कामों में एक्टिव हो गई।’ राजश्री आगे बताती हैं, ‘महाराष्ट्र में सूखा हमेशा से ही बड़ी समस्या रही है। बचपन में मैंने देखा कि कई लोग सिर्फ पानी भरने के लिए लंबी-लंबी लाइनों में घंटों खड़े रहते थे। सूखे की वजह से मेरे पापा को खेती छोड़नी पड़ी। मैंने हमेशा अपनी मां से बहुत सीखा है। वो हमेशा दूसरों की मदद करने के लिए तैयार रहती थीं। मेरी मासी, जो डॉक्टर थीं, वो गरीब लोगों का फ्री में इलाज करती थीं। मैं ये जानती थी कि मेरे पास पैसे नहीं हैं लेकिन हमेशा से अपनी जिंदगी में बदलाव चाहती थी।’

इस गांव के लोगों की सुधार रहीं जिंदगी

राजश्री देशपांडे ने मराठवाड़ा के पनध्री गांव को चुना। वो कहती हैं, ‘मेरे पास इतने पैसे नहीं थे कि मैं रातों-रात कुछ बदलाव ला पाऊं, इससिए मैंने अपना NGO रजिस्टर करवाया ताकि लोग पैसे डोनेट तक सकें। यहां मैंने एक प्रोजेक्ट की शुरुआत की। इस गांव में पानी की बहुत दिक्कत है, इसलिए लोगों को घरों में टॉयलेट भी नहीं है। उनका मानना है कि टॉयलेट की वजह से पानी की डिमांड बढ़ जाती है। घर की महिलाओं का मानना था कि हम जिस घर में खाना बनाते हैं, वहां टॉयलेट कैसे हो सकता है। उनके साथ 6 महीने तक रहकर मैंने उनका विश्वास जीता। फिर उन्हें घर में टॉयलेट होने के फायदे बताए। मैंने उन्‍हें बताया कि सरकार की कुछ योजनाएं हैं जिसके तहत टॉयलेट बनाने के लिए हर परिवार को 12 हजार रुपए दिए जाते हैं। बहुत मेहनत के बाद मैं परिवारों को पैसे दिलाने में सफल हुई। लोगों ने फिर खुद अपने हाथों से अपने घरों में टॉयलेट बनाए।

Related Post

सिनेमाघरों में राष्ट्रगान बजाने पर केंद्र बनाए स्पष्ट नीति : सुप्रीम कोर्ट

Posted by - October 23, 2017 0
तीन जजों की पीठ ने कहा – अदालत अपने कंधे पर बंदूक रखकर सरकार को नहीं चलाने देगी नई दिल्ली। सुप्रीम…

राकेश अस्थाना का प्रमोशन, बने सीबीआई के स्पेशल डायरेक्टर

Posted by - October 23, 2017 0
केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) के अतिरिक्त निदेशक राकेश अस्थाना को जांच एजेंसी के विशेष निदेशक (स्पेशल डायरेक्टर) के तौर पर…

लंबे समय तक प्रदूषण का करेंगे सामना, तो माता-पिता बनने में होगी दिक्कत

Posted by - November 13, 2018 0
नई दिल्ली। हिंदी अखबार नवभारत टाइम्स ने बताया है कि लंबे समय तक प्रदूषित हालात में रहने से आंखों, फेफड़ों,…

अम्‍मू बोले-किसी को ‘पद्मावती’ नहीं देखने दूंगा, अगर यह गुंडागर्दी है तो मुझे फर्क नहीं

Posted by - November 22, 2017 0
चंडीगढ़: हरियाणा बीजेपी के नेता सूरजपाल अम्‍मू को भले ही ‘पद्मावती’ फिल्‍म पर विवादित बयानबाजी करने के कारण पार्टी की…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *