सावधान ! नहीं संभले तो बाढ़ से तबाह केरल जैसा हो जाएगा गोवा का भी हाल

129 0

नई दिल्ली। अगर गोवा ने पर्यावरण के मोर्चे पर एहतियात नहीं बरती तो उसका हश्र भी बाढ़ से तबाह हुए केरल जैसा हो सकता है। जी हां, यह चेतावनी दी है मशहूर पर्यावरणविद् माधव गाडगिल ने। उन्होंने कहा कि दूसरे राज्यों की तरह यहां भी कुछ ऐसी चीजें हो रही हैं, जिनका मकसद सिर्फ पैसा कमाना है।

क्‍या कहना है पर्यावरणविद् गाडगिल का ?

माधव गाडगिल ने कहा कि वैसे तो गोवा का पश्चिमी घाट केरल जैसा बहुत ऊंचा नहीं है, लेकिन मुझे यकीन है कि गोवा भी ऐसी ही तबाही और समस्याओं का सामना करेगा। यहां एहतियात इसलिए नहीं बरती जा रही हैं क्योंकि मुनाफा रुक जाएगा। वहीं पर्यावरणविद् राजेंद्र केरकर का कहना है कि केरल की आज जो हालत है, वो सिर्फ लोगों की वजह से है। केरल के मुकाबले गोवा एक छोटा राज्य है, इसलिए यहां हालात ज्यादा खराब हो सकते हैं। यहां 3-4 इंच की बारिश में ही बाढ़ जैसे हालात हो सकते हैं।

पहले से है डेंजर जोन में

गोवा फाउंडेशन की डायरेक्टर क्लाउड अलवेरस का कहना है कि गोवा पहले से ही डेंजर जोन में है, इसलिए सरकार को जल्द से जल्द गंभीर कदम उठाने चाहिए। गाडगिल ने कहा कि पर्यावरण को नुकसान पहुंचाने का खामियाजा अन्त में भुगतना ही पड़ता है। केंद्र सरकार की ओर से गठित न्यायमूर्ति एमबी शाह आयोग ने अवैध खनन से 35000 करोड़ रुपये के अवैध मुनाफे का अनुमान लगाया है।

ऐसा है केरल का हाल

केरल में बाढ़ के कारण मरने वालों की संख्या अब बढ़कर 357 तक पहुंच गई है। 7 लाख से ज्यादा लोग राहत शिविरों में रह रहे हैं। रविवार को बारिश कम होने से केरल में लोगों ने थोड़ी राहत की सांस ली। कई क्षेत्रों में बारिश के बीच बचाव कार्य जारी है। राज्य के 11 जिलों में ऑरेंज और दो जिलों में येलो अलर्ट जारी किया गया है। केरल में बाढ़ से आई भीषण तबाही के बीच देश के कई राज्यों ने मदद का हाथ बढ़ाया है। शनिवार को केरल के दौरे पर गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 500 करोड़ रुपये की सहायता देने की घोषणा की थी।

Related Post

सोशल मीडिया प्रोफाइल ‘वीचैट’ बना चीन का ‘आधार’

Posted by - May 30, 2018 0
चीन की पब्लिक सेफ्टी मिनिस्ट्री ने वीचैट के डेवलपर्स ‘टेंसेंट टेक्नोलॉजी’ संग मिलकर शुरू किया प्रोग्राम नई दिल्ली‍। भारत में…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *