एशियन गेम्स 2018 : विनेश ने रचा इतिहास, महिला कुश्ती में पहली बार भारत को दिलाया गोल्ड

61 0

जकार्ता। महिला रेसलर विनेश फोगाट ने एशियाई खेलों में इतिहास रचते हुए सोमवार (20 अगस्‍त) को 50 किग्रा फ्रीस्टाइल कुश्ती में भारत को गोल्ड मेडल दिलाकर देश का नाम रोशन किया है। इस उपलब्धि के साथ ही वह पहली भारतीय महिला पहलवान बन गई हैं, जिसने एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक अपने नाम किया हो। बता दें कि एशियाई खेलों में भारत ने अभी तक दो ही गोल्ड मेडल अपने नाम किए हैं और दोनों ही पदक कुश्ती में मिले हैं। रविवार को बजरंग पूनिया ने इन खेलों का पहला गोल्ड मेडल दिलाया था। उधर, भारत के लक्ष्‍य श्‍योरान ने शूटिंग में सोमवार को भारत को तीसरा पदक दिलाया।

जापान की इरी युकी को 6-2 से दी मात

18वें एशियाई खेलों में गोल्ड मेडल के लिए खेले गए मुकाबले में विनेश फोगाट ने जापान की इरी युकी को 6-2 से मात दी। अंकों के लिहाज से विनेश ने पहली बढ़त 4-0 की बनाई थी। इसके बाद इरी युकी ने 2 अंक अर्जित किए और मुकाबला 4-2 पर पहुंच गया। इस बीच विनेश ने 2 अंक और लेकर 4 अंकों की अपनी लीड को बरकरार रखा। मैच का निर्धारित समय पूरा होने के बाद विनेश ने 6-2 के अंतर से गोल्ड मेडल अपने नाम कर लिया। विनेश ने सेमीफाइनल में महज 75 सेकंड में उज्बेकिस्तान की याकशीमुरातोवा को 10-0 से मात दी। इस मुकाबले में विनेश ने याकशीमुरातोवा को कोई मौका ही नहीं दिया और बाउट शुरू होते ही कुछ ही पलों में 10 अंक बटोर कर तकनीकी आधार 10-0 से मुकाबला अपने नाम कर लिया।

महावीर फोगाट की भतीजी हैं विनेश

बता दें कि विनेश पहलवान महावीर सिंह फोगाट के छोटे भाई राजपाल की बेटी हैं। पहलवान गीता फोगाट व बबिता कुमारी उसकी चचेरी बहनें हैं। शुरू में बेटियों को पहलवानी सिखाने पर उसके ताऊ और पिता को समाज व गांववालों के कड़े विरोध का सामना करना पड़ा था, लेकिन समाज की परवाह किए बगैर महावीर फोगाट व राजपाल दोनों अपने फैसले पर डटे रहे। जब बेटियों ने पदक जीतने शुरू किए तो गांववालों का रवैया भी बदलने लगा। विनेश के फाइनल में पहुंचने के बाद उनके ताऊ महावीर फोगाट ने उन्हें ट्वीट कर बधाई दी थी और स्वर्ण पदक के साथ देश लौटने का संदेश दिया था। चरखी दादरी के गांव बलाली की रहने वाली विनेश ने जैसे ही गोल्ड मेडल जीता पूरा गांव जश्न में डूब गया।

युवा निशानेबाज लक्ष्य ने पुरुष ट्रैप इवेंट में भारत की झोली में दूसरा सिल्वर मेडल डाला

शूटिंग में लक्ष्‍य ने दिलाया एक और सिल्‍वर मेडल

उधर, युवा भारतीय निशानेबाज लक्ष्य श्‍योरान ने सोमवार को पुरुष ट्रैप इवेंट में भारत की झोली में दूसरा सिल्वर मेडल डाल दिया। 19 साल के लक्ष्य ने 45 में से 39 निशाने सही लगाए जिससे वह पोडियम में दूसरे स्थान पर रहे। ताईपे के कुनपी यांग ने स्वर्ण पदक अपने नाम किया, साथ ही उन्होंने 48 अंक से खेलों के रिकार्ड की भी बराबरी की। वहीं कोरिया के डाएमयियोंग अहन ने जेएससी शूटिंग रेंज में 30 अंक से कांस्य पदक प्राप्त किया। यह भारतीय निशानेबाजी दल का इन खेलों में तीसरा पदक है। इससे पहले भारत को दूसरे दिन की शुरुआत में शूटर दीपक कुमार ने सिल्वर मेडल दिलाया था। एक कांस्‍य पदक रविवार को मिला था।

Related Post

पीएम मोदी की पत्‍नी जसोदा बेन सड़क दुर्घटना में घायल, अस्पताल में भर्ती

Posted by - February 7, 2018 0
जसोदाबेन के सिर में लगी चोट, कोट्टा-चित्तौड़ हाइवे पर हुई दुर्घटना, हादसे में एक व्‍यक्ति की मौत जयपुर। पीएम नरेंद्र…

चीनी से ज्यादा खतरनाक है आर्टीफिशियल स्वीटनर, ब्रेन को भी पहुंचाता है नुकसान

Posted by - August 9, 2018 0
नई दिल्ली। क्या आप भी खाने-पीने की चीजों में आर्टीफिशियल स्वीटनर यानी कृत्रिम मिठास का इस्तेमाल करते हैं? अगर हां,…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *