हरिद्वार के ब्रह्मकुंड में गंगा में प्रवाहित की गईं अटलजी की अस्थियां

87 0

हरिद्वार। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थियां रविवार (19 अगस्‍त) को गंगा नदी में विसर्जित कर दी गईं। हरिद्वार में हर की पैड़ी पर उनकी दत्‍तक पुत्री नमिता कौल भट्टाचार्य ने अस्थियों को गंगा में प्रवाहित किया। बता दें कि अटलजी की अस्थियां देश की कई नदियों में विसर्जित की जाएंगी। इसकी शुरुआत रविवार को हरिद्वार में उनकी अस्थियों के विसर्जन के साथ हुई।

सेना के ट्रक पर निकली कलश यात्रा

अटलजी की अस्थियां लेकर उनका परिवार रविवार सुबह विशेष विमान से दिल्‍ली से देहरादून के जौलीग्रांट एयरपोर्ट पहुंचा। उनके साथ गृहमंत्री राजनाथ सिंह, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह  और  यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद रहे। जॉलीग्रांट से दो हेलीकॉप्टर से सभी लोग हरिद्वार पहुंचे। इसके बाद भल्ला कॉलेज से फूलों से लदे सेना के ट्रक पर कलश यात्रा शुरू हुई। यात्रा में हजारों की भीड़ साथ रही। करीब तीन किमी. का सफर तय कर कलश यात्रा दोपहर 1 बजे हरकी पैड़ी पहुंची।

मंत्रोच्‍चार के बीच विसर्जित की गईं अस्थियां

हर की पैड़ी पर ब्रह्मकुंड में एक बड़ा सा चबूतरा बनाया गया था, जहां अटलजी का अस्थि कलश स्थापित किया गया। मंत्रोच्चारण के साथ अंतिम क्रियाएं शुरू की गईं। इसके बाद ‘ओम’ के उच्चारण के साथ अटलजी की दत्तक पुत्री नमिता भट्टाचार्य ने अस्थियों को  गंगा में प्रवाहित किया। इस दौरान अटलजी का परिवार, बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह और राजनाथ सिंह, उत्‍तराखंड के सीएम त्रिवेंद्र रावत समेत कई बड़े नेता मौजूद रहे।

Related Post

परमाणु हथियारों के खात्मे की कोशिशों के लिए आईकैन को नोबेल शांति पुरस्कार

Posted by - October 6, 2017 0
इस साल का नोबेल शांति पुरस्कार परमाणु हथियारों के ख़ात्मे के लिए काम करने वाली अंतरराष्ट्रीय संस्था ‘इंटरनेशनल कैम्पेन टू…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *