अखिलेश यादव को बड़ा झटका, हाईकोर्ट ने होटल निर्माण पर लगाई रोक

83 0

लखनऊ। इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने राजधानी में बन रहे अखिलेश यादव के होटल के निर्माण पर रोक लगा दी है। हाईकोर्ट ने मामले का स्‍वत: संज्ञान लेते हुए राज्‍य सरकार से भी इस बारे में जवाब मांगा है। हाईकोर्ट ने यूपी सरकार से पूछा है कि आखिर हाई सिक्‍योरिटी जोन में होटल निर्माण की अनुमति कैसे दी गई ? हाईकोर्ट ने मामले में जनहित याचिका दायर करने वाले शिशिर चतुर्वेदी को सुरक्षा उपलब्‍ध कराने के भी निर्देश दिए हैं।  इस मामले में अब अगली सुनवाई 5 सितंबर को होगी।

क्‍या है मामला ?

उल्‍लेखनीय है कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद सरकारी बंगला खाली करने वाले पूर्व मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव अपनी पत्‍नी डिंपल यादव के साथ मिलकर लखनऊ में अपना होटल खोलना चाहते हैं। हिबिस्‍कस हेरीटेज नामक उनका यह होटल वीआईपी एरिया 1ए विक्रमादित्‍य मार्ग पर बनना है। यह मामला तब सामने आया, जब दोनों की ओर से होटल का नक्‍शा पास कराने के लिए लखनऊ विकास प्राधिकरण (LDA) में जुलाई में आवेदन किया गया। इसके बाद LDA ने उनके प्रस्‍तावित होटल के संशोधित मानचित्र पर अनापत्ति (NOC) के लिए विभिन्‍न विभागों को पत्र लिखा था।

13 लोगों को बनाया गया है पार्टी

इस मामले में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव, सांसद डिंपल यादव, सपा के संरक्षक मुलायम सिंह यादव, जनेश्वर मिश्र समेत कुल 13 लोगों को पार्टी बनाया गया है। बता दें कि अधिवक्‍ता शिशिर चतुर्वेदी ने यह याचिका दायर की थी। इस याचिका में कहा गया है कि नियमों का उल्‍लंघन कर होटल को हाई सिक्‍योरिटी जोन में बनाया जा रहा है।

Related Post

दलित समुदाय के संत कन्हैया प्रभु बनेंगे महामंडलेश्वर, कुंभ के दौरान मिलेगी उपाधि

Posted by - April 24, 2018 0
इलाहाबाद। देश के कई हिस्सों में आजादी के 70 साल बाद भी भले ही दलितों का उत्पीड़न और शोषण होता…

सर्वे : महिलाओं के लिए सीरिया-अफगानिस्तान से भी ज्यादा असुरक्षित है भारत

Posted by - June 27, 2018 0
थॉमसन रॉयटर्स फांउडेशन ने जारी किए सर्वे के नतीजे, पश्चिमी देशों में सिर्फ अमेरिका का नाम लंदन। पूरी दुनिया में भारत को…

कश्मीर में मुठभेड़ वायुसेना के 2 कमांडो शहीद, 2 आतंकी ढेर

Posted by - October 11, 2017 0
श्रीनगर: उत्तरी कश्मीर के हाजिन, बांदीपोरा में बुधवार की सुबह से जारी मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने लश्कर-ए-ताईबा के दो विदेशी आतंकियों…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *