Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

JAKARTA ASIAD: खिलाड़ी ज्यादा, लेकिन भारत कम ही जीतता रहा है मेडल

118 0

जकार्ता। जकार्ता में 18वें एशियाई खेल हो रहे हैं। इस प्रतियोगिता में भारत की ओर से 36 खेलों में 572 खिलाड़ी हिस्सा ले रहे हैं, लेकिन बीते प्रदर्शनों की बात करें, तो खिलाड़ियों की भारी-भरकम संख्या के बावजूद मेडल की संख्या कम होती जा रही है। बता दें कि भारत ने 17 एशियाई खेलों में अब तक 139 गोल्ड, 178 सिल्वर और 299 ब्रांज मेडल जीते हैं।

इवेंट कम हुए, नामचीन खिलाड़ी भी नहीं गए
भारतीय दल की बात करें, तो जकार्ता में हो रहे एशियाई खेलों में ज्यादा पदक जीतने की उम्मीदें काफी कम लग रही हैं। पिछली बार जब इंचियोन में एशियाई खेल हुए थे, तो भारत ने निशानेबाजी, टेनिस, कुश्ती, तीरंदाजी, कबड्डी और मुक्केबाजी में 57 में से 43 मेडल झटके थे। इसके अलावा एथलेटिक्स में 13 मेडल भी भारतीय खिलाड़ियों को मिले थे। इस बार निशानेबाजी में 44 की जगह सिर्फ 20 इवेंट होंगे। बीती बार जिन स्पर्धाओं में भारत ने गोल्ड पर निशाना लगाया, उनमें से 7 इस बार नहीं होंगे। ऐसे में स्टार निशानेबाज गगन नारंग, शाहजर रिजवी, जीतू राय और मेहुली घोष जकार्ता नहीं गए हैं।

मेडल घटते रहे हैं हमारे
एशियाई खेलों को शुरू हुए 67 साल हो चुके हैं। इतने साल में भारत ने 1986 में सियोल में हुए एशियाई खेलों तक 82 गोल्ड जीते थे। इसके बाद सिर्फ 57 गोल्ड ही भारत की झोली में आए। शुरुआत के 10 एशियाई खेलों के मुकाबले भारत ने बाद की 7 प्रतियोगिताओं में 18 फीसदी कम पदक हासिल किए। खास बात ये कि भारत आखिरी बार 1986 के एशियाई खेलों में ही टॉप-5 पर रहा था। इन प्रतियोगिताओं में भारत ने सबसे खराब प्रदर्शन 1990 में किया था। जबकि, बीजिंग में 11वें एशियाई खेलों में भारत सिर्फ 1 गोल्ड जीतकर 11वें स्थान पर रहा था।

कम नहीं हुआ खिलाड़ियों और पदक का अनुपात
2010 में ग्वांगझू में हुए एशियाई खेलों में भी भारत अपने खिलाड़ियों और पदक के अनुपात को घटा नहीं सका। 609 खिलाड़ी 65 पदक ही जीत सके। 2014 में इंचियोन में भारत के 541 खिलाड़ी गए और 11 गोल्ड समेत 57 पदक ही जीते।

इन साल में गोल्ड मेडल का रहा टोटा
1954, 1958, 1966, 1970, 1974, 1986, 1990, 1994, 1998, के एशियाई खेलों में भारत के खिलाड़ी गोल्ड मेडल का दहाई भी नहीं ला सके। भारत को सबसे ज्यादा 15 गोल्ड 1951 में हुए एशियाई खेलों में मिला था। जबकि, सबसे कम 1 गोल्ड उसने 1990 में बीजिंग में हासिल किया था।

Related Post

99 करोड़ रुपए के मालिक हैं क्रिस गेल, उनके घर के अंदर की तस्वीरें देख रह जाएंगे दंग

Posted by - September 12, 2018 0
नई दिल्ली। अगर आपको क्रिकेट में थोड़ा सा भी इंटरेस्ट है, तो आपने वेस्टइंडीज के खिलाड़ी क्रिस गेल का नाम…

फिल्म निर्देशक कल्पना लाजमी ने दुनिया को कहा अलविदा, कैंसर से थीं पीड़ित

Posted by - September 23, 2018 0
मुंबई। नारीवादी विषयों पर फिल्में बनाने के लिए मशहूर कल्‍पना लाजमी का निधन हो गया है। वे 64 वर्ष की थीं।…

खुफिया रिपोर्ट : कश्मीर में ISIS समर्थक महिलाओं के समूह ने दी दस्तक

Posted by - June 23, 2018 0
‘दौलत-उल-इस्लाम’ संगठन की महिलाएं घाटी के युवक-युवतियों का कर रहीं ब्रेन वॉश श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में अलगवावादियों, पत्थरबाजों और आतंकवादियों के…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *