केरल में भीषण बाढ़ व बारिश से 10 दिनों में 324 की मौत, दो लाख से ज्‍यादा बेघर

86 0

तिरुवनंतपुरम।  केरल में भारी बारिश और बाढ़ के कारण बीते पिछले 10 दिनों में 324 लोगों की मौत हो गई है। भूस्खलन और बाढ़ में अकेले गुरुवार को ही 106 जानें गईं। करीब 2 लाख 23 हजार लोग बेघर हो गए हैं। उन्‍हें 1500 राहत शिविरों में पहुंचाया गया है। सेना के साथ एनडीआरएफ की टीमें राहत कार्य में जुटी हैं।

100 साल का रिकॉर्ड टूटा

केरल में मूसलाधार बारिश और बाढ़ ने भयंकर तबाही मचा दी है। राज्‍य के हालात बेहद बदतर हो गए हैं। इस बार की बारिश और बाढ़ ने पिछले 100 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। राज्‍य के कई हिस्से पूरी तरह से जलमग्न हो गए हैं। पानी को बाहर निकालने के लिए 80  डैम खोल दिए गए हैं। प्राकृतिक आपदा ने इस खूबसूरत राज्य को झकझोर कर रख दिया है। सूबे का पर्यटन उद्योग बर्बाद हो गया है, हजारों हेक्टेयर भूभाग में फसलें तबाह हो गई हैं।

केरल पहुंचे पीएम मोदी

पीएम मोदी बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण करने के लिए शुक्रवार (17 अगस्‍त) रात को ही केरल पहुंच चुके हैं। वो शनिवार बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण करेंगे। मूसलाधार बारिश से कोच्चि एयरपोर्ट में भी पानी भर गया है, जिसके कारण इसको एक दिन के लिए बंद करना पड़ा है। ट्रेन और सड़क परिवहन सेवाएं भी ठप हो गई हैं। सड़कों और इमारतों में पानी भर गया है। सड़कों पर इतना ज्यादा पानी है कि लोगों को बाहर निकालने के लिए नाव का सहारा लेना पड़ रहा है।

केरल सरकार ने की मदद की अपील

केरल की विजयन सरकार ने बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए लोगों से डोनेशन देने की अपील की है। donation.cmdrf.kerala.gov.in के जरिए कोई भी बाढ़ पीड़ितों की मदद कर सकता है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह और आंध्र प्रदेश के सीएम चंद्रबाबू नायडू ने केरल को 10-10 करोड़ रुपये की मदद का ऐलान किया है। तेलंगाना के सीएम के चंद्रशेखर ने भी 25 करोड़ रुपयों की मदद का ऐलान किया है।

सेना चला रही ऑपरेशन

केरल में बाढ़ में फंसे लोगों को निकालने के लिए भारतीय वायुसेना ऑपरेशन ‘करुणा’ चला रही है। साथ ही सेना, नौसेना और NDRF कर्मी बाढ़ से बुरी तरह प्रभावित इलाकों में फंसे लोगों को निकालने का काम कर रहे हैं। पांच Mi-17V5 और तीन अन्य हेलिकॉप्टर के जरिए पथानामथिट्टा, एर्नाकुलम और त्रिशूर जिले में फंसे लोगों को बचाया गया है। इसके अलावा रक्षा मंत्रालय ने केरल को राहत और बचाव कार्य के लिए 1300 लाइफ जैकेट्स, 571 लाइफबॉय, एक हजार रेनकोट, 1300 गमबूट, 25 मोटराइज्ड बोट, नौ नॉन मोटराइज्ड बोट, 1500 फूड पैकेट और 1200 रेडी-टू-ईट मील उपलब्ध कराया है।

 

Related Post

मोहन भागवत बोले – भारत में सुरक्षित हैैं अल्पसंख्यक

Posted by - December 26, 2017 0
संघ प्रमुख बोले – राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ हिंदुत्व के लिए प्रतिबद्ध, नहीं करता है राजनीति अंगुल (ओडिशा)। राष्ट्रीय स्वयं सेवक…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *