अटल बिहारी वाजपेयी की वो तस्वीरें जो आज भी उनकी दौर की यादें ताजा करती हैं…

124 0

नई दिल्ली। भारत के लोकप्रिय नेताओं में से एक अटल बिहारी वाजपेयी अपने कामों के साथ-साथ अपने भाषण देने के अंदाज के लिए भी काफी मशहूर थे। भारतीय जनता पार्टी के उदय से सत्ता तक पहुंचाने में भारत रत्न वाजपेयी का अहम योगदान रहा है। उन्हें देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से सम्मानित किया जा चुका है। कुछ तस्वीरें आज भी उनके दौर की यादें ताजा करतीं हैं।

अटल बिहारी वाजपेयी का जन्म ग्वालियर में 25 दिसंबर 1924 को हुआ। वह अपने पिता कृष्ण बिहारी वाजपेयी और माता कृष्णा देवी के सात संतानों में से एक हैं।

कॉलेज में अटल जी की कविताओं और आवाज के लोग दीवाने थे। जब भी मंच पर खड़े होकर अटल जी अपनी कविताएं सुनाने लगते, तो मानों मेला सा लग जाता था।

 

शाम के वक्त दोस्तों के साथ उनकी गंगा किनारे महफिल लगती थी, जिसमें आजादी से जुड़े टॉपिक, कविताएं और गाने गाते थे।

शांत और सौम्य स्वभाव के कारण उनके साथी और विरोधी दोनों उनके फैन थे।

जब पहली बार लोकसभा का चुनाव लड़े तो हार गए। इस हार से वह आहत नहीं हुए बल्कि हार से बहुत सीखने का मौका मिला।

सन 1957 में जनसंघ ने अटल बिहारी वाजपेयी को दोबारा लोकसभा के चुनाव में तीन लोकसभा सीटों से चुनाव लड़ाया। इसमें भी उन्हें दो स्थानों पर हार का सामना करना करना पड़ा और बलरामपुर से अपनी सीट बचा पाने में कामयाब हुए।

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी खाने के भी शौकीन रहे हैं।

Related Post

हिज्बुल चीफ सलाउद्दीन के बेटे को NIA ने टेरर फंडिंग में किया गिरफ्तार

Posted by - August 30, 2018 0
श्रीनगर। राष्‍ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) को गुरुवार (30 अगस्‍त) सुबह एक बड़ी कामयाबी मिली,  जब उसने श्रीनगर के रामपुर इलाके…

बिकिनी कोई नया परिधान नहीं, 3500 साल पहले भी पहनती थीं महिलाएं

Posted by - November 30, 2018 0
पेरिस। फिल्मों और सौंदर्य प्रतियोगिताओं में बिकनी पहनकर हिरोइन या मॉडल दिखती हैं, तो उसकी तस्वीरें सोशल मीडिया के जरिए…

म्यांमार में मुस्लिम रोहिंग्या आतंकियों ने किया हिंदुओं का कत्लेआम, एमनेस्टी का खुलासा

Posted by - May 23, 2018 0
यांगून। रोहिंग्या आतंकवादियों ने म्यांमार के राखीन इलाके के कई गांवों में हिंदुओं का कत्लेआम किया था। कत्लेआम की ये…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *