नीदरलैंड में हवा से चलती हैं सारी ट्रेनें, इस तरह पावर की जाती है जनरेट

41 0

नई दिल्ली। नीदरलैंड एक ऐसा देश है, जहां सारी ट्रेनें हवा से चलाई जा रही हैं। आपके दिमाग में ये सवाल आ रहा होगा कि ऐसा कैसे हो सकता है, लेकिन ये सच है। यहां विंड एनर्जी से मिलने वाली ऊर्जा के जरिए ऐसा किया जा रहा है।

कैसे हुआ ये संभव

डच इलेक्ट्रिक कंपनी इनेको ने एनएस की ओर से दो साल पहले जारी किए गए टेंडर को जीता था। इसके बाद में दोनों कंपनियों ने 10 साल की डील की थी, जिसके तहत जनवरी 2018 वह तारीख तय की गई थी, जब सारी ट्रेनें विंड एनर्जी से मिलने वाली बिजली से चलेंगी। आधे घंटे पवनचक्की के चलने पर इतनी ऊर्जा मिलती है कि ट्रेन 120 मील तक जा सके।

रोजाना 6 लाख पैसेंजर करते हैं सफर

नेशनल रेलवे कंपनी एनएस के प्रवक्ता टॉन बून का कहना है कि देशभर में बढ़ते विंड फॉर्म्स और नीदरलैंड के तटीय इलाके में बसे होने के कारण हम ये काम कर पाए। एनएस करीब 5500 ट्रेन ट्रिप्स डेली संचालित करती है। उन्होंने बताया कि रोजाना करीब 6 लाख पैसेंजर ऐसे हैं, जो विंड एनर्जी से चलने वाली ट्रेन में सफर करते हैं।

क्या होती है विंडमिल

विंडमिल के जरिए काफी पावर जनरेट की जाती है। इसकी ऊंचाई लगभग 300 फीट होती है। हवा के जरिए घूमने वाले इसके ब्लेड्स टर्बाइन को पावर देते हैं, जो एनर्जी जेनरेट करते हैं।

Related Post

केजरीवाल बोले – आईएसआई 70 साल में जो नहीं कर पाई, बीजेपी ने 3 साल में कर दिया

Posted by - November 26, 2017 0
लगाया आरोप – बीजेपी सांप्रदायिकता की राजनीति कर साध रही है पाकिस्तान के हित नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी के संयोजक…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *