15 अगस्‍त से 300 ट्रेनों का समय बदला, नया टाइम टेबल देखकर ही निकलें घर से

148 0

नई दिल्‍ली। इंडियन रेलवे ने साल 2018-19 के लिए मंगलवार (14 अगस्‍त) को नए टाइम टेबल का ऐलान कर दिया है। नया टाइम टेबल 15 अगस्त से लागू हो जाएगा। नए टाइम टेबल के मुताबिक करीब 300 गाड़ियों के प्रस्थान और आगमन समय में बदलाव किया गया है। रेलवे ने सुझाव दिया है कि अगर आप ट्रेन से यात्रा कर रहे हैं तो नए टाइम टेबल को देखकर ही घर से निकलें।

अब मौजूदा समय से पहले चलेंगी 57 ट्रेनें

रेलवे ने टाइम टेबल का ऐलान करते हुए कहा है 57 ट्रेनों के प्रस्थान समय में बदलाव करके इन्हें मौजूदा समय से पहले किया गया है। वहीं दूसरी तरफ 58 ट्रेनें ऐसी हैं, जिनको मौजूदा समय के मुकाबले बाद में चलाया जा रहा है। इसी तरह से 102 ट्रेनों के आगमन समय में बदलाव करके मौजूदा समय के मुकाबले इन्हें पहले कर दिया गया है और दूसरी तरफ 84 ट्रेनों के आगमन समय में बदलाव करके इन्हें देरी से चलाया जा रहा है।

कई ट्रेनों की रफ्तार में भी बदलाव

टाइमटेबल को तर्कसंगत बनाने के लिए रेलवे ने कई ट्रेनों की अधिकतम रफ्तार में जरूरत के अनुसार कमी या बढ़ोतरी की है। इस कारण कई ट्रेनों के आगमन व प्रस्थान समय में 5 मिनट से लेकर 1.50 घंटे का बदलाव किया गया है। उत्तर रेलवे के स्टेशनों से चलने वाली 48 ट्रेनों के समय में पांच मिनट का बदलाव किया गया है। 15 ट्रेनों का समय 15 मिनट बदल जाएगा। 7 ऐसी ट्रेनें हैं जो 50 मिनट पहले या देर से चला करेंगी। खास बात यह है 21 शताब्दी, राजधानी, दुरंतो, महामना और हमसफर जैसी एक्सप्रेस ट्रेनों के समय में बदलाव किया गया है।

राजधानी एक्सप्रेस के बदल जाएंगे नंबर
नई दिल्ली से चलने वाली दो राजधानी एक्सप्रेस के नंबर बदलने का फैसला भी किया गया है। सप्ताह में दो दिन चलने वाली डिब्रूगढ़-नई दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस (12435/12436) का नंबर 21 अक्टूबर से बदलकर 20505/20506 हो जाएगा। वहीं, डिब्रूगढ़-नई दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस (12235/12236) का नंबर 18 अक्टूबर से 20503/20504 हो जाएगा।

टाइम टेबल में मेंटेनेंस ब्‍लॉक भी शामिल

नए टाइम टेबल में एक और खास बात है कि इसमें मेंटेनेंस ब्‍लॉक को भी शामिल किया गया है। अलग-अलग इलाकों में जरूरत के मुताबिक जो काम बकाया है, उसको इस टाइम टेबल में शामिल किया गया है। रविवार के दिन मेगा ब्लॉक लिये गए हैं और इस दिन कई गाड़ियों के समय में बदलाव किया गया है। मेगा ब्लॉक के दिन ट्रेनों के रूट में भी कई जगहों पर बदलाव किया गया है। मेगा ब्लॉक को टाइम टेबल में शामिल करने के पीछे उद्देश्‍य यह है कि रेलवे को मेंटेनेंस का उचित समय मिले जिससे इंफ्रास्ट्रक्चर को दुरुस्त किया जा सके।

 

Related Post

लखनऊ की आबोहवा को कम नुकसान पहुंचाती हैं गाड़ियां, दिल्ली की हवा सबसे जहरीली

Posted by - August 25, 2018 0
कोलकाता। गाड़ियों से निकलने वाले धुएं से शहर प्रदूषित हो रहे हैं। सबसे खराब हालत दिल्ली की है। यहां हर…

अब गंजडुंडवारा में माहौल बिगाड़ने की कोशिश, धार्मिक स्थल का दरवाजा जलाया

Posted by - February 5, 2018 0
आग लगने के कारणों का पता नहीं, डीएम और एसपी पहुंचे मौके पर, इलाके में पुलिस बल तैनात कासगंज। सांप्रदायिक…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *