Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

पुणे में सबसे बड़ी डिजिटल डकैती, हैकर्स ने बैंक से उड़ाए 94 करोड़ रुपये

170 0

पुणे। महाराष्ट्र के पुणे में सबसे पुराने सहकारी बैंकों में से एक कॉसमॉस बैंक में अबतक की सबसे बड़ी डिजिटल डकैती का सनसनीखेज मामला सामने आया है। हैकर्स ने साइबर अटैक कर 94 करोड़ रुपये विदेशी बैंक के खातों में ट्रांसफर कर दिए। मामले में बैंक की ओर से मंगलवार (14 अगस्‍त) को पुणे के चतुशृंगी थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। एफआईआर के मुताबिक, इस मामले में हांगकांग की एक कंपनी और एक अज्ञात व्यक्ति को आरोपी बनाया गया है। पुलिस और साइबर क्राइम सेल की अलग-अलग टीमें मामले की जांच में जुट गई हैं।

दो बार में ही निकाल ली इतनी बड़ी रकम

बताया जा रहा है कि यह साइबर अटैक बैंक के गणेशखंड रोड स्थित मुख्यालय में किया गया। हैकर्स ने बैंक से दो बार में 94 करोड़ रुपए विदेश के बैंक खातों में ट्रांसफर किए हैं। पहली बार 11 अगस्त की दोपहर 3 बजे से रात 10 बजे के बीच और दूसरी बार 13 अगस्त को पैसे ट्रांसफर किए गए। साइबर अपराधियों ने बैंक सर्वर को हैक कर 15 हजार से भी ज्‍यादा ट्रांजेक्शन किए। बैंक अधिकारियों द्वारा पुलिस को दी गई सूचना के अनुसार हैकर्स ने 80.5 करोड़ रुपए डेबिट कार्ड से 14849 ट्रांजेक्शन के जरिए और 13.9 करोड़ रुपए स्विफ्ट ट्रांजेक्शन के जरिए विदेशी खातों में ट्रांसफर किए गए हैं।

मालवेयर अटैक के जरिए की वारदात

बैंक के चेयरमैन मिलिंद काले ने बताया कि वारदात को कनाडा से अंजाम दिया गया है। आरबीआई इस मामले की जांच कर रही है। एएलएम ट्रेडिंग कंपनी के नाम पर ट्रांजेक्शन किया गया था और बेनिफिशरी को 12 करोड़ रुपए मिले हैं। बैंक अधिकारियों के अनुसार, हैकर्स ने मालवेयर अटैक के जरिए घटना को अंजाम दिया है। हैकर्स ने पहले मालवेयर अटैक के जरिए बैंक मुख्‍यालय में एटीएम स्विच (सर्वर) को हैक कर ग्राहकों के डेबिट कार्ड्स का डाटा चुराया। डाटा मिलने के बाद अपराधियों ने घटना को अंजाम दिया। बता दें कि कॉसमॉस बैंक भारत के सबसे पुराने सहकारी बैंकों में से एक है। कॉसमॉस बैंक की स्थापना वर्ष 1906 में हुई थी।

स्विफ्ट के जरिए ऐसे होता है ट्रांजैक्शन

इस प्रक्रिया में एक कर्मचारी मैसेज जारी करता है। दूसरा कर्मचारी उसे अधिकृत (ऑथेंटिकेट) करता है। तीसरा मैसेज को वेरीफाई करता है। एक चौथा इम्‍पलॉई LoU भेजे जाने के बाद लेन-देन से जुड़ा प्रिंट आउट रिसीव करता है। हैकर्स ने इस पूरी प्रक्रिया को ही हैक कर लिया था और इसका इस्तेमाल रकम भेजने में किया।

Related Post

इसे कहते हैं क्रिएटिविटी, इस महिला किसान ने सीमेंट की बोरियों से बना डाली वेडिंग ड्रेस

Posted by - October 1, 2018 0
बीजिंग। क्रिएटिविटी से किसी साधारण सी चीज को भी खूबसूरत बनाया जा सकता है। यही काम चीन की एक महिला…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *