प्रधानमंत्री मोदी बोले – महागठबंधन का टूटना तय, 2019 में रिकॉर्ड सीटों से जीतेंगे

45 0

नई दिल्‍ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एनआरसी, रोजगार, भीड़ की हिंसा, महागठबंधन, राहुल गांधी, ममता बनर्जी और पाकिस्तान से रिश्तों से जुड़े कई मामलों पर खुलकर अपने विचार प्रकट किए। न्‍यूज एजेंसी एएनआई को शनिवार (11 अगस्‍त) को दिए इंटरव्‍यू में प्रधानमंत्री ने गंभीर मसलों पर चिंता जताई जबकि देश में हो रहे सकारात्मक बदलावों पर आश्वस्त नजर आए। 

महागठबंधन पर क्‍या बोले

पीएम मोदी ने विपक्ष के महागठबंधन के बहाने एक बार फिर परिवारवाद का मुद्दा उठाया। उन्‍होंने कहा, ‘ये गठबंधन टूटना तय है, देखना ये है कि ये चुनाव के बाद टूटता है या फिर पहले।’ लोकसभा चुनाव के मद्देनजर विपक्ष के महागठबंधन को प्रधानमंत्री ने मौकापरस्ती, दिखावटी गठजोड़ बताया। उन्होंने कहा कि महागठबंधन परिवारवाद के बारे में है, न कि विकास के बारे में। उन्होंने यह भी कहा कि 2019 हमारा है और मैं यह कह देना चाहता हूं कि हम रिकॉर्ड सीटों से जीतेंगे।

भीड़ की हिंसा गंभीर अपराध

पीएम मोदी ने भीड़ की हिंसा (मॉब लिंचिंग) को एक गंभीर अपराध बताया और कहा कि यह एक जघन्य अपराध है। मोदी ने कहा, ‘मेरी पार्टी और मैं इन घटनाओं और ऐसी मानसिकता पर कई मौक़ों पर साफ़-साफ़ कह चुके हैं। यह सब रिकॉर्ड में है। इस तरह की एक भी घटना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। हमारे समाज में शांति और एकता सुनिश्चित करने के लिए हर किसी को राजनीति से ऊपर उठना चाहिए।’

एनआरसी पर भी रखी राय

प्रधानमंत्री मोदी ने असम के राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) पर भी अपनी बात रखी। उन्होंने आश्‍वस्‍त किया कि भारत के किसी भी नागरिक को देश नहीं छोड़ना होगा। जिन व्यक्तियों का नाम इस लिस्ट में नहीं है उन्हें अपनी नागरिकता साबित करने का मौका दिया जाएगा। उन्होंने एनआरसी पर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी द्वारा ‘गृहयुद्ध’ शब्द का इस्तेमाल करने पर कहा, ‘जिनका भरोसा ख़ुद में और संस्थानों में कम हो गया है, वही ऐसे शब्द इस्तेमाल कर सकते हैं। वह दिन दूर नहीं, बस जनता 2019 में ही ‘गृहयुद्ध’ का फैसला कर देगी। ’

राहुल के गले लगने पर क्‍या बोले ?

संसद में अविश्वास प्रस्ताव के दौरान राहुल गांधी के गले लगने की घटना की पक्ष और विपक्ष सभी ने अलग-अलग तरह से व्याख्या की थी, लेकिन खुद प्रधानमंत्री से जब इस बाबत पूछा गया तो उन्‍होंने कहा, ‘ये आपको तय करना है कि यह बचकाना हरकत थी या कुछ और। यदि आप निर्णय नहीं कर सकते तो उनका आंख मारना देखिए और आपको जवाब मिल जाएगा।’

पिछले साल एक करोड़ रोजगार का दावा

रोजगार के मुद्दे पर विपक्ष की आलोचनाओं पर बेबाकी से बात करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने दावा किया, ‘पिछले एक साल में ही एक करोड़ से ज्यादा रोजगार दिए गए, इसलिए इस तरह का प्रचार करना कि देश में रोजगार पैदा नहीं हो रहे, निश्चित रूप से बंद होना चाहिए।’

जीएसटी पर जनता ने दिया जवाब

राहुल गांधी द्वारा जीएसटी को गब्बर सिंह टैक्स कहे जाने पर पीएम मोदी ने कहा कि गुजरात चुनाव के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष ने लोगों को जीएसटी के खिलाफ भड़काने की जी-जान से पूरी कोशिश की लेकिन लोगों ने उन्हें स्वीकार नहीं किया। जनता ने ही उनको गब्‍बर सिंह टैक्‍स के बारे में जवाब दे दिया।

पाकिस्तान में इमरान की सरकार पर क्‍या कहा ?

पाकिस्‍तान में इमरान खान के सत्‍ता संभालने के बाद पाकिस्‍तान से संबंधों और सार्क में भारत के भाग लेने के सवाल पर पीएम मोदी ने कहा – ‘मैंने हमेशा कहा है कि हम पड़ोसी देशों से अच्‍छे संबंधों के पक्षधर रहे हैं। मैंने चुनाव में इमरान खान की जीत के बाद उन्‍हें बधार्इ् दी थी। हम आशा करते हैं कि पाकिस्‍तान आतंक और हिंसा से मुक्त, सुरक्षित, स्थिर और समृद्ध क्षेत्र के लिए काम करेगा।’

Related Post

चीफ जस्टिस को दी चुनौती, बतौर जस्टिस इन्होंने उठाई थी आम लोगों की आवाज

Posted by - June 22, 2018 0
नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा के काम-काज के तरीके को चुनौती देने वाली आवाज अब सुप्रीम…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *