खुलासा: भूख से मौतों का आधार कार्ड से होता है सीधा संबंध

63 0

रांची। झारखंड में बीते 10 महीनों में भूख से 14 लोगों की मौत हो चुकी है। इन 14 लोगों के आधार-कार्ड में गड़बड़ी होने की वजह से इन्हें पेंशन और राशन कार्ड नहीं मिल पा रहा था। हालांकि राज्‍य के खाद्य आपूर्ति मंत्री सरयू राय का कहना है कि भूख से किसी की भी मौत नहीं हुई है, ये राजीनिक साजिश है।

गरीबों को योजना का नहीं मिला फायदा

27 जुलाई, 2018 को 40 साल के राजेंद्र बिरहोर की जान भूख की वजह से चली गई थी। राजेंद्र आदिवासी थे। झारखंड के रामगढ़ के रहने वाले राजेंद्र के आधार कार्ड में गड़बड़ी थी। इसकी वजह से उन्हें पेंशन और राशन कार्ड नहीं मिल पा रहा था। राइट टू फूड (RTF) अभियान के मुताबिक इन्हें अंत्‍योदय अन्न योजना (AAY) का फायदा मिलना चाहिए था। यह योजना भारत में गरीब लोगों के लिए है।

सरकार नहीं देती भुखमरी पर ध्यान

झारखंड सरकार का इस बारे में कहना है कि किसी की भी मौत भूख की वजह से नहीं हुई है। जब डॉक्टर्स और सामाजिक कार्यकर्ताओं से बात की गई कि तो सामने आया कि सरकार भुखमरी और कुपोषण जैसे गंभीर विषयों पर कम ध्यान देती है। डॉक्टर्स का कहना है कि इन 14 लोगों की मौत का कारण संक्रमण और बीमारियां भी हो सकती हैं।

आधार को राशन कार्ड से लिंक कराना अनिवार्य

राशन लेने के लिए राशन कार्ड को आधार कार्ड से लिंक करना अनिवार्य है। अक्टूबर 2017 में झारखंड सरकार ने कहा कि पीडीएस के तहत अनाज ले सकते हैं, इसके लिए आधार कार्ड का होना जरूरी नहीं है। हालांकि झारखंड में जिला प्रशासन ने इस नियम का पालन नहीं किया। उन्होंने आधार कार्ड लोगों के लिए अनिवार्य रखा। इसी वजह से बिरहोर की मौत हुई। उधर, रांची विश्वविद्यालय के प्रोफेसर का कहना है कि मंत्रियों ने मीडिया को जो भी बताया हो, लेकिन असली बात तो यह है कि झारखंड सरकार ने आधार के साथ राशन कार्ड लिंक करवाने की नीति तो कभी वापस नहीं लिया।

Related Post

तनुश्री दत्ता ने नाना पाटेकर पर लगाया सेक्‍सुअल हैरेसमेंट का आरोप, तंग आकर छोड़ दी थी फिल्म

Posted by - September 26, 2018 0
मुंबई। फिल्म ‘आशिक बनाया आपने’ से पॉपुलर हुईं एक्ट्रेस तनुश्री दत्ता ने एक ऐसा खुलासा किया है जिसे सुनकर सभी…

SC का फैसला : अब राज्य सरकारें दे सकेंगी एससी/एसटी को प्रमोशन में आरक्षण

Posted by - September 26, 2018 0
नई दिल्‍ली। सरकारी नौकरी में एससी/एसटी को प्रमोशन में आरक्षण मसले पर सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार (26 सितंबर) को बड़ा…

जिस मछली को आप स्वास्थ्यवर्धक मानते हैं, उसे खाने से कैंसर भी हो सकता है

Posted by - November 17, 2018 0
नई दिल्ली। आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र, ओडिशा और गुजरात से ज्यादातर मछलियां देशभर में भेजी जाती हैं। दिल्ली समेत उत्तरी और…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *