यमन में हवाई हमले की चपेट में आई स्‍कूली बस, 29 बच्चों की मौत

52 0

सना (यमन)। विद्रोहियों के कब्जे वाले उत्तरी यमन के अशांत इलाक़ों में हुए एक हवाई हमले की चपेट में स्‍कूली बस आ गई, जिससे 29 से ज़्यादा बच्चों की मौत हो गई है और 30 से ज्‍यादा लोग घायल हो गए। ये हवाई हमला सऊदी अरब के नेतृत्व वाले गठबंधन की तरफ से किया गया था। यह गठबंधन हूथी विद्रोहियों के ख़िलाफ़ लड़ रहे यमन सरकार का समर्थक है। बताया जा रहा कि हमले के वक़्त बस शाद इलाक़े के दहयान बाज़ार से गुजर रही थी।

कार्रवाई को सही ठहराया

यमन की सरकार को हूथी विद्रोहियों के ख़िलाफ़ समर्थन दे रहे समूह ने इस हमले को सही ठहराया है। प्रवक्ता कर्नल तुर्की अल-मल्की ने एक बयान में कहा कि यह हवाई हमला अंतरराष्ट्रीय क़ानून के अनुरूप था। उन्होंने बताया कि यह हवाई हमला हूथी विद्रोहियों के बैलिस्टिक मिसाइल के जवाब में किया गया है। गठबंधन सैन्यबल ने कहा कि उसने ‘वैध सैन्य कार्रवाई’ की है और इसके जरिए हूती विद्रोहियों को निशाना बनाया गया है। उधर, हूती के अल मसरियाह टीवी ने कहा कि हमले में कम से कम 50 लोग मारे गए और 77 अन्य घायल हो गए। हताहतों में अधिकतर बच्चे हैं।

आम नागरिकों को निशाना बनाने का आरोप

मानवतावादी समूहों ने गठबंधन की सरकार पर आरोप लगाया है कि वह स्कूल, बाज़ार, हॉस्पिटल और आवासीय क्षेत्र को निशाना बना रही है। उनका कहना है कि यह सबकुछ पिछले तीन सालों से चल रहा है। बता दें कि वर्ष 2014 के बाद से यहां करीब 10 हज़ार लोग मारे जा चुके हैं, जिनमें से दो-तिहाई आम नागरिक थे। यहां चल रहे गृह युद्ध के कारण यमन में भुखमरी जैसे हालात हो गए हैं और लाखों लोग बेहद मुश्किल में जीने को मजबूर हैं।

 

Related Post

नकल करते पकड़ी गई छात्रा की खुदकुशी के बाद यूनिवर्सिटी में हिंसा

Posted by - November 23, 2017 0
गुस्‍साए छात्रों ने चेन्नई की सत्यभामा यूनिवर्सिटी के हॉस्टल में रखे सभी फर्नीचर्स फूंके चेन्नई की सत्यभामा यूनिवर्सिटी में बुधवार…

कर्नाटक : येदियुरप्पा के शपथ ग्रहण के विरोध में कांग्रेस विधायक बैठे धरने पर

Posted by - May 17, 2018 0
भाजपा की बढ़ीं मुश्किलें, 2 निर्दलीय विधायक भी कांग्रेस के धरने में हुए शामिल बेंगलुरु। कर्नाटक में लगातार सियासी उठापटक…

हिमाचल प्रदेश के केलांग में सुरंग के भीतर बनेगा देश का पहला रेलवे स्टेशन

Posted by - October 18, 2018 0
नई दिल्ली। कोलकाता और दिल्ली में तो कई ऐसे मेट्रो स्टेशन हैं, जो जमीन के नीचे बने हैं। इनमें दिल्‍ली…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *