Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

Warning: Cannot assign an empty string to a string offset in /var/www/the2ishindi.com/public/wp-includes/class.wp-scripts.php on line 426

बच्चों में मोटापे की बड़ी वजह हैं प्राइवेट स्कूल, वजह जानकर हैरान रह जाएंगे आप

120 0

नई दिल्ली। एक रिसर्च से पता चला है कि प्राइवेट स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों में मोटापा बढ़ रहा है। बच्चों में मोटापा बढ़ने की वजह प्राइवेट स्कूलों के भीतर ही मौजूद है। जिसके बारे में जानकर आप हैरान रह जाएंगे।

दिल्ली में हुई रिसर्च

दिल्ली के सर गंगाराम हॉस्पिटल ने एक रिसर्च में पाया है कि राजधानी के प्राइवेट स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों में से 30 फीसदी मोटे हैं। इसकी वजह पता करने पर देखा गया कि स्कूलों की कैंटीन में बच्चों को मोटा बनाने वाली खाने-पीने की चीजें बिकती हैं। सर गंगाराम हॉस्पिटल की डॉक्टर लतिका भल्ला और उनकी टीम ने रिसर्च में पाया कि मोटापा कम करने के लिए बीते 8 साल में 15 से 21 साल के 123 बच्चों को सर्जरी करानी पड़ी। हॉस्पिटल के बैरियाट्रिक सर्जरी विभाग ने 2010 से 2018 के बीच कुल 1078 सर्जरी की। इनमें 23 फीसदी मरीज बचपन या किशोरावस्था से ही मोटे हुए थे।

मोटापे से तमाम बीमारियां

डॉ. लतिका भल्ला और उनकी टीम ने पाया कि मोटापे की वजह से बच्चों को डायबिटीज, हाई ब्लड प्रेशर, नींद न आने की बीमारी और लड़कियों में बांझपन का खतरा बढ़ना देखा गया। कई भाई-बहनों में देखा गया कि उनमें जीन के साथ भोजन की आदत की वजह से मोटापा था।
 
ये हैं मोटापे से जुड़े कुछ आंकड़े

-लान्सेट की रिसर्च कहती है कि ब्रिटेन में 5 से 9 साल की उम्र के हर 10 में से एक बच्चा मोटा है।

-2025 तक मोटापे की वजह से होने वाली बीमारियों के इलाज पर दुनियाभर में 920 अरब पाउंड लोग खर्च करेंगे।

-ब्रिटेन समेत यूरोप के कई देशों में बच्चों में मोटापा होना रुक गया है, लेकिन तमाम देशों में बच्चे लगातार मोटे हो रहे हैं।

-सस्ते और मोटापा बढ़ाने वाली चीजें खाने से बच्चे मोटे हो रहे हैं।

-अब तक दुनिया में सिर्फ 20 देशों ने सॉफ्ट ड्रिंक पर टैक्स लगाया है। सॉफ्ट ड्रिंक को मोटापा बढ़ने की बड़ी वजह माना जाता है।

-भारत और चीन के अलावा पूर्वी एशिया में सबसे ज्यादा बच्चे मोटे हो रहे हैं।

-साल 2000 के बाद पूरी दुनिया में अंडरवेट बच्चों की तादाद कम हो रही है।

-2016 में दुनिया में 19 करोड़ बच्चे कम वजन के थे। पूर्वी एशिया, दक्षिण अमेरिका और कैरीबियाई देशों में बीते कुछ साल में अंडरवेट बच्चों की संख्या में तेजी से गिरावट आई है और मोटे बच्चों की संख्या बढ़ी है।

Related Post

कश्मीर में पत्थरबाजों को पकड़ने को पुलिस ने अपनाया अनोखा तरीका, भेष बदल बीच में घुसे

Posted by - September 8, 2018 0
श्रीनगर। जम्मू कश्मीर सुरक्षाबलों ने पथराव के पीछे के असली गुनहगारों को गिरफ्तार करने के लिए अनोखी रणनीति अपनाई। ऐतिहासिक जामा…

SC/ST को प्रमोशन में आरक्षण पर सुप्रीम कोर्ट का अंतरिम आदेश देने से इनकार

Posted by - July 11, 2018 0
7 जजों की संविधान पीठ अगस्‍त में करेगी SC/ST को प्रमोशन में आरक्षण मामले पर सुनवाई नई दिल्‍ली। सुप्रीम कोर्ट…

पाक ने फिर बरसाए गोले, जवान शहीद, जवाबी कार्रवाई में तीन पाक रेंजर ढेर

Posted by - January 18, 2018 0
जम्मू के अरनिया व आरएसपुरा सेक्टर में भारतीय चौकियों और रिहायशी इलाकों को बनाया निशाना जम्मू। पाकिस्तान ने एक बार…

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *